पत्रकार दुर्ग सिंह राजपुरोहित को बड़ी राहत, SC-ST कोर्ट ने दी जमानत

फेसबुक से लिया गया राजपुरोहित का फोटो.

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : राजस्थान के पत्रकार दुर्ग सिंह पुरोहित को शुक्रवार को बड़ी राहत मिली है. पटना के एससी/एसटी कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है. राजपुरोहित को पिछले दिनों पटना पुलिस ने गिरफ्तार किया था. उनकी गिरफ्तारी एसएसी/एसटी एक्ट के तहत की ​गयी थी. राजपुरोहित के परिवार वाले भी पटना पहुंच गये. वे लोग लगातार साजिश का आरोप लगा रहे थे. इसके बाद मामला हाई प्रोफाइल हो गया और तब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जांच के आदेश दिये थे.

लेकिन इसी बीच पत्रकार दुर्ग सिंह राजपुरोहित के लिए राहत भरी खबर शुक्रवार को अपराह्न में आयी. पटना के एससी/एसटी कोर्ट ने पत्रकार राजपुरोहित को जमानत दे दी. राजपुरोहित की ओर से एससी/एसटी कोर्ट में जमानत याचिका दायर की गई थी. इस पर शुक्रवार की दोपहर बाद सुनवाई हुई. कोर्ट ने राजपुरोहित को जमानत देते हुए 5—5 हजार के दो पर्सनल बांड भी भराये हैं.

गौरतलब है कि बाड़मेर में निजी चैनल में कार्यरत राजपुरोहित को पिछले दिनों पटना पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इसके बाद यह मामला बिहार के राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बन गया. मामला इतना अधिक तूल पकड़ा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे गंभीरता से लिया. साथ ही उन्होंने जांच का आदेश भी दिया. इसकी जांच की जिम्मेदारी जोनल आईजी नैयर हसनैन खान को दी गई है.

पत्रकार राजपुरोहित के मामले को नीतीश कुमार ने लिया गंभीरता से, दिया जांच का आदेश

बता दें कि राजपुरोहित को पिछले रविवार को गिरफ्तार किया गया था. सोमवार को उन्हें पटना लाया गया. साथ मंगलवार को कोर्ट में उनकी पेशी हुई. तब कोर्ट ने उन्हें जेल भेज दिया. लेकिन शुक्रवार को राजपुरोहित को बड़ी राहत मिली और कोर्ट ने उन्हें बेल दे दिया.

मालूम हो कि राजपुरोहित के घरवाले भी अभी पटना में ही हैं. परिजनों को कहना है कि सोशल मीडिया पोस्ट के कारण यह सब हुआ है. परिवार के लोगों ने बाड़मेर की भाजपा नेता प्रियंका चौधरी पर साजिश रचने का आरोप लगाया गया है. वहीं प्रियंका की ओर से कहा गया है कि इससे उन्हें कोई लेना—देना नहीं है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*