आरजेडी ने जारी किया घोषणा पत्र, 10 लाख नौकरी समेत क्या-क्या है अंदर?

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश में राजनीति अपने चरम पर है. आज नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. जहां उन्होंने पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया. अपने घोषणा पत्र में पार्टी ने 10 लाख नौकरी, संविदा प्रथा खत्म, समान काम समान वेतन देने का ऐलान किया है. बता दें कि इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, राज्यसभा सांसद मनोज झा सहित कई बड़े नेता मौजूद थे.

इसके अलावा आरजेडी के इस घोषणा पत्र में सरकारी विभागों में निजीकरण को खत्म करना, उर्दू शिक्षकों की बहाली, युवाओं को सरकारी नौकरी की परीक्षा में फॉर्म फ्री और आने-जाने का किराया मुफ्त, आंगनवाड़ी सेविका सहायिका, आशाकर्मी और ग्रामीण डॉक्टरों की मांगें पूरी की जाएगी. इसके अलावा इस घोषणा पत्र में छात्रों को लैपटॉप, किसानों की कर्ज माफी सहित अन्य शामिल है.



घोषणा पत्र जारी करने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एनडीए सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बिहार में डबल इंजन की सरकार ने यहां की जनता को बस बेवकूफ बनाया है.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि इसके लिए हम अलग-अलग विभागों में नौकरी बहाली करेंगे. हमने इसके लिए आंकलन भी किया है. उन्होंने कहा कि अगर हमें इस मुद्दे पर झूठ बोलना होता तो हम 10 लाख नौकरी की क्यों बात करते? उन्होंने कहा कि हम भी बढ़ा-चढ़ाकर बातें करते. हम भी 50 लाख या 1 करोड़ लोगों को नौकरी देने की घोषणा कर देते. लेकिन हमें झूठा वादा नहीं करना है. हम रिक्वायरमेंट के आधार पर ही नौकरी देंगे.

तेजस्वी यादव ने कहा कि जिस तरह से डबल इंजन की सरकार ने 19 लाख नौकरी का ऐलान कर दिया है, हम तो हैरान में पड़ गए हैं. आरजेडी नेता कहा कि हमने तो 10 लाख युवाओं को रोजगार देने की बात की. उसपर भी सवाल उठने लगे कि इतना पैसा कहां से आएगा? खुद नीतीश कुमार जी ने भी कहा कि पैसा कहां से आएगा? अब जरा कोई ये बता दें कि अब बीजेपी पैसा कहां से लाएगी?