सुशील मोदी को आरजेडी की खुली चुनौती, मनोज झा ने कहा- आओ कर लें ‘भय बनाम पर भरोसा’ पर बहस

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार विधानसभा चुनाव काफी नजदीक है. ऐसे में बयानबाजी का दौरा जारी है. बिहार में इन दिनों ‘भय बनाम भरोसा’ पर खूब सियासत हो रही है. उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी आरजेडी को बिहार में बुनायादी सुविधाओं पर बहस का आमंत्रण भी दे चुकें हैं. इसको लेकर आरजेडी नेता और राज्यसभा सांसद मनोज झा ने पलटवार किया है.

मनोज झा ने कहा कि सुशील मोदी जिन मुद्दों पर बहस करना चाहते हैं, हम भी बहस करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में बिजली, पानी, सड़क, मुजफ्फरपुर में बच्चियों का चित्कार कोई भूला नहीं है. आरजेडी सांसद ने कहा कि लॉकडाउन में बिहार के मजदूरों का हाल सभी को याद है. आपके पलायन वाले बयान को जनता नहीं भूली है. इस चुनाव में जनता आपका हिसाब जरूर करेगी.



आरजेडी सांसद ने कहा कि सुशील मोदी जी बिहार में माइग्रेशन की बात करते हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में माइग्रेशन का क्या औसत है? मनोज झा ने कहा कि 1990 से 2005 और 2005 से 2020 तक का इतिहास उठा लीजिए. आपने सुई तक का कारखाना तक लगाया क्या? उन्होंने कहा कि सुशील मोदी जी से बेरोजगार युवाओं की हालत नहीं देखी जा रही है. नियोजित शिक्षक सड़कों पर मरते रहे. आरजेडी सांसद ने कहा कि आपकी सरकार ने बिहार के युवाओं को कुएं में ढकेल दिया है.

मनोज झा ने भय बनाम भरोसा की बात पर सुशील मोदी पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि सुशील मोदी एक बार मुजफ्फरपुर जाकर उन बच्चियों और उनके परिजनों से मिलकर भय बनाम भरोसा की बात कह कर आइए. बिहार के युवाओं के सामने इस नारा का जिक्र तो कीजिए. उन्होंने आगे कहा कि उन मजदूरों से जाकर कहिए कि भय बनाम भरोसा, तब आपको हकीकत बता देंगे कि इस नारे का आखिर क्या मतलब है.

आरजेडी के बड़े नेता मनोज झा ने कहा कि पीएम मोदी और उनकी पूरी टीम ने अपने घर से आइना हटा दिया है. कोई भी नेता अगर आइना हटा देता है तो बड़ी दिक्कत होती है. उन्होंने कहा कि राज्य में आए दिन दुष्कर्म, हत्याएं और लूट की घटनाए सामने आ रही है. लेकिन सभी चुप हैं. मनोज झा ने कहा कि बीजेपी में सुशील मोदी हैं. लेकिन मुझे लगता है कि ये बात बीजेपी भी नहीं मानती है.

राज्यसभा सांसद मनोज झा आत्मनिर्भर को लेकर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर के बीच में एक हाइफन लगा लीजिए. उन्होंने कहा कि बिहार में एक भाजपा जेडीयू के साथ है. एक भाजपा लोजपा के साथ है. उन्होंने कहा कि ये प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से बिहार के लोग देख रहे हैं. आरजेडी सांसद ने कहा कि हमारी पार्टी कभी फायदे और घाटे को देखकर राजनीति नहीं करती है.