लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार की सियासत में एक वायरल डांस वीडियो ने बवाल खड़ा कर दिया है. सोशल मीडिया पर मणिपुर में बिहार के विधायकों की रंगरेलियां मनाने की तस्वीरें वायरल हो रही हैं. मणिपुर के एक स्थानीय अखबार के हवाले से ये ख़बर कई चैनलों ने चलाया. लेकिन जब लाइव सिटीज ने इस वायरल वीडियो की पड़ताल की तो पता चला कि यह वीडियो फर्जी है. दरअसल, वीडियो में दिख रहे शख्स की तस्वीरें विधायकों के तस्वीरों से मेल नहीं खा रही हैं.

लाइव सिटीज ने इसकी सच्चाई जानने के लिए राजद से पिपरा के विधायक यदुवंश कुमार यादव से बात की. यदुवंश कुमार यादव ने बातचीत में यह कहा कि उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. राजद विधायक ने यह भी कहा कि मैं वहां गया था. लेकिन इस तरह का कोई कार्यक्रम वहां पर नहीं हुआ. जो वीडियो वायरल किया जा रहा है वह सरासर गलत है. इस मामले की पूरी जांच होनी चाहिए. इसके साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा की वीडियो गलत पाए जाने पर वह इस बात पर मानहानि का मुकदमा भी दर्ज करवाएंगे.

लाइव सिटीज दर्शकों से अपील कर रहा है कि सोशल मीडिया में बिहार के विधायकों के नाम से जो भ्रामक ख़बरें सामने आ रही हैं उस पर भरोसा ना करें, क्योंकि जो वीडियो वायरल हो रहा है उसकी सत्यता की पुष्टि नहीं हो रही है.

क्या थी खबर…

बिहार की सियासत में एक डांस वीडियो ने बवाल खड़ा कर दिया है. इस वीडियो में बिहार के चार विधायक कैद हो गए हैं. इस बात की पुष्टि हम नहीं कर रहे हैं बल्कि खबर इंफाल टाइम्स में छपी हुई है. दरअसल, जानकारी के मुताबिक मणिपुर में ये चार विधायक उस वक्त कैमरे में कैद हो गए जब ये मौज ले रहे थे. स्टडी टूर पर गए बिहार के चार विधायको के रंगरलियां मनाते पकड़े जाने के बाद से राजनीतिक गलियारे में हड़कंप है.