बच्चों की मौत पर राजद का गंभीर आरोप, रामचंद्र पूर्वे ने कहा – यह हत्या है

राजद प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में चमकी बुखार (AES) का कहर जारी है. इस गंभीर बीमारी की वजह से अबतक मुजफ्फरपुर में अबतक 87 बच्चों की मौत हो गई है. मासूम बच्चों की मौत को लेकर विपक्ष ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार पर हमला बोल दिया है. इंसेफेलाइटिस से हो रही बच्चों की मौत पर राजद ने एक गंभीर आरोप लगाया है. राजद (RJD) के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अस्पताल में एक ही आईसीयू के बेड पर कई बच्चों का इलाज किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि किसी भी अस्पताल में समुचित व्यवस्था नहीं है. देश के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है. यह बीमारी से मौत नहीं हुई है बल्कि हत्या है. पूर्वे ने कहा कि राजद नेता और कार्यकर्ता सरकार के सभी मुद्दों पर 24 जून को प्रखंड स्तर पर धरना देंगे. जिला अध्यक्ष को निर्देश दिया गया है.

राजद प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जिसमें हत्या लूट और पानी की समस्या को लेकर तीन महीने का मेमोरेंडम लेकर राज्यपाल को सौपेंगे. पूर्वे ने कहा कि 2013-14 में ही राज्य सरकार का निर्देश था कि लैब बनाकर रिसर्च किया जाएगा. भवन बना. लेकिन अबतक लैब नहीं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने किया मुजफ्फरपुर का दौरा

मासूमों की मौत की जानकारी के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने आज मुजफ्फरपुर का दौरा किया. बच्चों का हाल जानने के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. उन्होंने कहा कि एसकेएमसीएच जो आईसीयू बनी हुई है व्यवस्था पर्याप्त नहीं है.यहां पर कम से कम 100 बेड का नया आईसीयू बनना चाहिए.

उन्होंने नया आईसीयू बनाने के लिए सरकार से आग्रह किया है. डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि अगले साल मई जून से पहले आईसीयू तैयार हो जाएगा, क्योंकि अप्रैल मई से इस तरह का केस आने लगते है. यहां पर एक रिसर्च सेंटर की भी जरूरत है. जिससे इस बीमारी पर रिसर्च किया जा सके.

About परमबीर सिंह 1537 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*