‘RLSP-LJP को इग्नोर करना ठीक नहीं, बिहार में उपेंद्र कुशवाहा को अपना नेता मानें NDA’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : रालोसपा ने नीतीश कुमार के बहाने एनडीए को बड़ी नसीहत दे दी है. साथ ही जदयू प्रमुख नीतीश कुमार पर भी करारा प्रहार किया है. रालोसपा के प्रदेश प्रवक्ता जीतेंद्र नाथ ने कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी का आधार जदयू से बड़ा है, इसलिए रालोसपा को 2019 के लोकसभा चुनाव में अधिक सीटें मिलनी चाहिए. रालोसपा के इस बयान से साफ संकेत मिलने लगा है कि एनडीए में सीट शेयरिंग को लेकर सबकुछ ठीक नहीं है.

दरअसल रालोसपा का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब एक दिन पहले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि चार-पांच सप्ताह के अंदर सीट शेयरिंग का मामला सुलझ जाएगा. इस पर कोई विवाद नहीं है. लेकिन, अब एनडीए में शामिल उपेेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा ने जदयू से अधिक सीटों की मांग की है. रालोसपा के प्रदेश प्रवक्ता जीतेंद्र नाथ ने कहा कि पिछले चार वर्षों में रालोसपा का आधार वोट बढ़ा है, इसलिए 2019 के चुनाव में उन्हें जेडीयू से ज्यादा सीटें मिलनी चाहिए. रालोसपा की यह भी डिमांड है कि बिहार में एनडीए के चेहरे के तौर पर नीतीश कुमार के बजाए उपेेंद्र कुशवाहा को सामने लाया जाए. रालोसपा ने 2014 के लोकसभा चुनाव में तीन सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे और तीनों पर ही उसे जीत मिली थी.

उन्होंने बताया कि एनडीए के भीतर जहां भाजपा और जदयू के बीच सीट बंटवारे पर खूब बातें हो रही हैं, वहीं एनडीए के सहयोगी दलों रालोसपा और लोजपा को इग्नोर किया जा रहा है. हम जदयू से ज्यादा सीटों पर लड़ना चाहते हैं, क्योंकि पिछले चार वर्षों में बिहार में हमारा आधार वोट बढ़ा है. हमारे नेता उपेंद्र कुशवाहा बिहार के भविष्य हैं. उन्हें लोग मानने लगे हैं. यह सही वक्त है कि उपेंद्र कुशवाहा को एनडीए का चेहरा बनाया जाए.

‘डिनर डिप्लोमेसी’ से खुश नहीं हैं कुशवाहा, NDA में सीट शेयरिंग को लेकर दिया ये बड़ा बयान

जीतेंद्र नाथ ने कहा है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में हमने तीन सीटों पर चुनाव लड़ा था. तीनों ही सीटों पर जीत हासिल की. हालांकि पार्टी के एक सांसद अरुण कुमार ने साथ छोड़ दिया है, लेकिन अभी भी हमारे दो सांसद हैं, जबकि जदयू के तो दो ही सांसद जीते थे. उन्होंने कहा कि

उन्होंने कहा कि यह सही है कि नीतीश कुमार गैर यादव पिछड़ी जाति के नेता रहे हैं, लेकिन हाल के दिनों में उनकी जमीन खिसकी है और गैर यादव पिछड़ी जातियों खासकर कुशवाहा, कुर्मी और धानुक में रालोसपा प्रमुख कुशवाहा की अगुवाई में पैठ बढ़ी है. उन्होंने कहा कि इसको ध्यान में रखते हुए अब नीतीश के बजाए उपेंद्र कुशवाहा को एनडीए का चेहरा बनाया जाना चाहिए.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*