मिलन समारोह : शेखपुरा, नालंदा व लखीसराय टाल क्षेत्र के सैकड़ों लोगों ने रालोसपा का दामन थामा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : रालोसपा के पटना कार्यालय में ​रविवार को काफी गहमागहमी रही. रालोसपा ने दोपहर में मिलन समारोह का आयोजन किया. इसमेें पार्टी प्रवक्ता जीतेंद्र नाथ के नेतृत्व में पटना समेत शेखपुरा, नालंदा और लखीसराय जिले के बीच फैले टाल इलाके के 50 से अधिक गांवों के सैकड़ों धानुक समाज के लोगों ने रालोसपा का दामन थामा. रालोसपा में आनेवाले लोगों का रालोसपा सांसद राम कुमार शर्मा ने स्वागत किया.

हालांकि मौके पर पहले रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा को भी शामिल होना था. लेकिन अचानक उन्हें दिल्ली जाना पड़ा. इस वजह से वे मिलन समारोह में शिरकत नहीं कर सके. उनकी अनुपस्थिति में सांसद राम कुमार शर्मा, प्रदेश प्रधान महासचिव सत्यानन्द दांगी, प्रदेश महासचिव प्रो कीर्तन कुशवाहा, प्रदेश महासचिव बिपिन चौरसिया, प्रदेश महासचिव मनोज यादव, प्रदेश महासचिव जयप्रकाश सिन्हा ने पार्टी में आनेवाले लोगों का स्वागत किया व पार्टी की सदस्यता दिलायी.

उपेंद्र कुशवाहा की अनुपस्थिति में टाल इलाके के लोगों का स्वागत करते हुए सांसद राम कुमार शर्मा ने कहा कि धानुक समाज के इन कार्यकर्ताओं के आने से सिर्फ टाल इलाके में ही नहीं, बल्कि पूरे बिहार में रालोसपा को मदद मिलेगी. उन्होंने कहा कि रालोसपा सामाजिक न्याय की पक्षधर रही है और हम लगातार दलितों, पिछड़ों और अतिपिछड़ों के संघर्षों के साथ हैं. रालोसपा का जो संदेश है हम उसको इनके माध्यम से निचले स्तर तक पहुंचाएंगे. इससे पार्टी के विस्तार में मदद मिलेगी.

इसके पहले रालोसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता जितेंद्रनाथ ने कहा कि अतिपिछड़ा और पिछड़ा वर्ग के लिए संख्या आधारित आरक्षण की व्यवस्था कायम होनी चाहिए. पिछड़ा और अति पिछड़ा वर्ग में कई नई जातियों को शामिल किया गया है. संख्या बल में भी बढ़ोतरी की गयी है, लेकिन आरक्षण प्रतिशत में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है. हाल के दिनों में तेली, निषाद, चौरसिया समेत अन्य जातियों को अति पिछड़ा के आरक्षण से जोड़ा गया है. लेकिन आज भी संख्या में कई गुना बढ़ जाने के बाद भी अति पिछड़ा 15 और पिछड़ा वर्ग 12 प्रतिशत के आरक्षण की व्यवस्था को झेल रहा है. यह व्यवस्था आरक्षित वर्गों के लिए कदापि उचित नहीं है. उन्होंने धानुक समाज के लोगों के रालोसपा में आने पर बधाई दी. मौके पर प्रदेश महिला प्रकोष्ठ अध्य्क्ष उर्मिला पटेल, प्रदेश अतिपिछड़ा अध्यक्ष रामेश्वर कुमार महतो भी मौजूद थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*