सड़क सुरक्षा सप्ताह : स्लोगन कम्पटीशन में भाग लेकर आप भी जीत सकते हैं अवार्ड-सर्टिफिकेट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : सड़क सुरक्षा के तत्वावधान में परिवहन विभाग स्लोगन प्रतियोगिता करवाने जा रही है. 30वां सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन 4 फरवरी से शुरू होगा. इस सप्ताह आप ई-मेल पर स्लोगन, वीडियो या डिजिटल पोस्टर भेज आकर्षक ईनाम जीत सकते हैं. सड़क सुरक्षा सप्ताह के अवसर पर ओपन कंपीटिशन हो रहा है. इस प्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति या स्कूल-कॉलेज के छात्र छात्राएं भाग ले सकते हैं. [email protected] इस मेल आईडी पर भेज सकते हैं स्लोगन या वीडियो.

शुक्रवार को परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने सड़क सुरक्षा सप्ताह के तैयारियों का जायजा लिया. उन्होंने इस दौरान उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र के जरिए बच्चे अपने माता-पिता से सड़क सुरक्षा से संबंधित नियमों का पालन करने की अपील करेंगे. स्कूली बच्चे अपने माता-पिता से वाहन चलाते हेलमेट पहनने का घोषणा पत्र भी भरवाएंगे. परिवहन सचिव ने बताया कि स्कूल में प्रार्थना के दौरान सड़क सुरक्षा की प्रैक्टिकल जानकारी दी जाएगी.

वहीं युवा या स्कूली छात्र-छात्राएं सड़क सुरक्षा के संबंध में अपनी अभिव्यक्ति दे सकते हैं. ओपन कंपीटिशन में ई मेल के जरिए स्लोगन, वीडियो या डिजिटल पोस्टर भेज सकते हैं. जिसके बाद 10 फरवरी को बेस्ट फाइव का चुनाव होगा. बेस्ट फाइव को आकर्षक पुरस्कार और प्रमाण पत्र मिलेगा. प्रतिभागियों के बेस्ट स्लोगन और पोस्टर की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी.

30 वां सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन 4 फरवरी से शुरू होगा. यह 10 फरवरी तक चलेगा. इस बार सड़क सुरक्षा सप्ताह का थीम सड़क सुरक्षा, जीवन रक्षा निर्धारित किया गया है. सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है.

सड़क सुरक्षा सप्ताह से संबंधित तैयारियों की समीक्षा बैठक शुक्रवार को परिवहन विभाग सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने किया. इस मौके पर राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी और बिहार सड़क सुरक्षा परिषद के विभिन्न स्टेक होल्डर- नगर विकास एवं आवास विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पथ निर्माण विभाग, परिवहन विभाग, बीमा कंपनी और ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के प्रतिनिधियों ने भाग लिया.

About परमबीर राजपूत 2434 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*