RRB NTPC RESULT: दिन में पटना से शुरू हुआ बवाल शाम में मोतिहारी भी पहुंच गया, बिहार के कई जिलों में पथराव, आगजनी और पुलिस से झड़प

लाइव सिटीज पटना: रेलवे भर्ती बोर्ड के एनटीपीसी रिजल्ट और ग्रुप डी की परीक्षा में धांधली का आरोप लगा बिहार के विभिन्न जिलों में अभ्यर्थियों का आंदोलन दूसरे दिन भी जारी है. मंगलवार को राजधानी पटना समेत नालंदा, नवादा, सीतामढ़ी, बक्सर, आरा,मोतिहारी और मुजफ्फरपुर में कैंडिडेट ने रेलवे ट्रैक पर जोरदार प्रदर्शन किया. कई जगहों पर पथराव, आगजनी और पुलिस से झड़प हुई. कई जगहों पर छात्रों का प्रदर्शन हिंसक भी हुआ. सुबह में पटना से शरू हुआ बवाल शाम होते-होते मोतिहारी भी पहुंच गया.

छात्रों के प्रदर्शन पर रेल मंत्रालय की ओर से चेतावनी जारी की गयी है. रेल मंत्रालय की ओर से जारी सार्वजनिक सूचना में कहा गया है कि रेल की पटरी पर विरोध प्रदर्शन, ट्रेन संचालन में व्यवधान और रेल की संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने की गतिविधियों में शामिल होना अनुशासनहीनता का उच्चतम स्तर है. विशेष एजेंसियों की सहायता से ऐसी गतिविधियों से संबंधित वीडियो की जांच की जाएगी. इसके बाद इनमें शामिल उम्मीदवारों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की जाएगी. साथ ही उन्हें रेलवे की नौकरी प्राप्त करने से आजीवन प्रतिबंधित भी किया जा सकता है.

एनटीपीसी की परीक्षा में धांधली को लेकर भिखना पड़ाही में छात्रों का हंगामा हो रहा है. मेन रोड जाम कर छात्र हंगामा कर रहे हैं. इसी बीच पटना पुलिस और छात्रों के बीच झड़प हुई है. उग्र छात्रों ने पुलिस पर हमला कर दिया जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया है. लाठीचार्ज के बाद घटनास्थल पर स्थिति तनावपूर्व बनी हुई है. प्रदर्शन कर रहे छात्रों को पुलिस खदेड़ कर भगा रही है. भिखना पहाड़ी में छात्रों के उपद्रव मामले पर सिटी एसपी ने कहा कि अब हालात सामान्य है, भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है, लगातार पेट्रोलिंग की व्यवस्था की गई है, कई छात्रों को हिरासत में लिया गया है.

सीतामढ़ी में छात्रों ने जमकर बवाल काटा. पुलिस समझाने गई तो उनपर पथराव कर दिया. छात्रों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने 25 राउंड फायरिंग की. वहीं इस हमले में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं. वहीं आरा में छात्रों का उपद्रव जारी है. प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने सासाराम पैसेंजर ट्रेन में आग लगा दी. मौके पर हालात तनावपूर्ण बनी हुई है. आरा स्टेशन को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. आरा में पथराव कर रहे छात्रों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े हैं. नवादा में भी पुलिस पर रोड़ेबाजी की गई और मेंटेनेंस ट्रेन में आग लगा दी गई.

आक्रोशित छात्रों ने गया-नवादा रेलखंड पर करीब दो किलोमीटर तक ट्रैक से क्लिप उखाड़ डाले. उग्र छात्रों ने नवादा रेलवे स्टेशन पर पथराव तथा रेल थाना पर हमला कर दिया वहीं बक्‍सर में हावड़ा-दिल्‍ली रेल पथ जाम रखा. इसके पहले सोमवार को पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर भी सैकड़ों छात्रों ने जमकर हंगामा किया. छात्रों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने उनपर आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया. इससे उग्र होकर उपद्रवियों ने कोचिंग कांप्लेक्स में जाकर ट्रेनों में तोड़फोड़ की व पटना-कुर्ला एक्सप्रेस की एक बोगी में आग लगा दी. पटना डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने प्रदर्शन करने वाले छात्रों और कई कोचिंग संस्थानों पर FIR दर्ज करने की बात कही है.

बता दें कि छात्रों ने आरोप लगाया है कि रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा में जो बदलाव किया गया है, वह सही नहीं है. छात्रों ने बताया कि फरवरी 2019 में उन्होंने फॉर्म भरा था. रेलवे की तरफ से सितंबर 2019 में परीक्षा लेने की बात भी कही गई थी, लेकिन तय समय पर परीक्षा नहीं हुई. तब डिपार्टमेंट ने दिसंबर 2021 में आश्वस्त किया था कि सीबीटी की परीक्षा 23 फरवरी 2022 से शुरू होगी. अब अचानक रेलवे ने सोमवार को नोटिस जारी कर कहा है कि ग्रुप डी की परीक्षा एक नहीं, बल्कि दो एग्जाम के तहत ली जाएगी.