संजय कुमार अग्रवाल ने पटना चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल समेत अन्य अस्पतालों के अधीक्षक से वीसी के जरिये की बात

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पटना प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने पटना चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल, नालंदा चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल तथा वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान पावापुरी के प्राचार्य /अधीक्षक के साथ  कोविड-19 के इलाज की सुचारू एवं सुदृढ़ व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षात्मक बैठक की तथा अस्पताल में विद्यमान संसाधनों का अधिकतम प्रयोग कर स्वास्थ्य सेवा एवं मरीजों के इलाज में गुणात्मक सुधार लाने का निर्देश दिया.

आयुक्त ने मेडिकल कॉलेजों में डॉक्टरों के लिए वार्डवार/बेडवार रोस्टर चार्ट बनाने तथा कार्य आवंटित कर दायित्व निर्धारित करने का निर्देश दिया. इस कार्य की सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग करने का निर्देश संबंधित मेडिकल कॉलेज के वरीय नोडल पदाधिकारी को करने का निर्देश दिया तथा कर्तव्य से अनुपस्थित डॉक्टर  के बारे में रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया.



उन्होंने प्रतिनियुक्त डॉक्टर को प्रति 3 घंटे पर पेसेंट के वार्ड/बेड में जाने तथा नियमित विजिट कर मरीज का समुचित इलाज करने को कहा. आयुक्त ने एएनएम /जीएनएम नर्स के कर्यो की मानिटरिगका का निर्देश दिया. इसके लिए उन्हें समुचित प्रशिक्षण देने तथा प्रति वार्ड में डेढ़ घंटे के अंतराल पर विजिट करने का निर्देश दिया.

उन्होंने प्रत्येक मेडिकल कॉलेजों में मरीजों के लिए उपयुक्त एवं बांछित दवा पर्याप्त मात्रा में रखने तथा मरीजों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.

पावापुरी मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन कार्य के दायित्व के निर्वहन के लिए दो ऊर्जावान एवं कर्मठ डॉक्टर को उपाधीक्षक का कार्य आवंटित किया जायेगा. साथ ही अस्पताल प्रबंधक के रिक्त पद को भरने हेतु नियमानुसार कार्रवाई  अतिशीघ्र प्रारंभ करने को कहा है.

पावापुरी मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 के वर्तमान में 48 मरीज भर्ती हैं. बैठक में अवगत कराया गया कि अस्पताल में 100 बेड हैं , 14 आईसीयू बेड , 17 वेंटीलेटर हैं. अस्पताल से अब तक 108 मरीज ठीक होकर अपने घर वापस जा चुके हैं. आयुक्त ने सिविल सर्जन नालंदा को अस्पताल में शववाहन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया.

उन्होंने  सभी मेडिकल कॉलेज में नियंत्रण कक्ष को एक्टिवेट रखने तथा पालीवार कर्मियों की तैनाती कर प्रतिदिन मरीजों का हालचाल जानने तथा उनकी समस्या/ शिकायत का समुचित निदान कर पंजी संधारित करने का निर्देश दिया. उन्होंने मेडिकल कॉलेज के प्रतिनियुक्त वरीय नोडल  पदाधिकारी एवं संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को नियमित प्रभावी निगरानी/निरीक्षण  कर कार्य में गुणवत्तापूर्ण सुधार लाने का निर्देश दिया.

उन्होंने मेडिकल कॉलेजों में इलाज की व्यवस्था में गुणात्मक सुधार लाने हेतु सीसीटीवी अधिष्ठापित करने का निर्देश दिया ताकि अस्पताल के सभी कार्यों की निगरानी की जा सके.

संक्रमण की स्थिति को देखते हुए आयुक्त ने अस्पताल के प्रत्येक वार्ड के भीतर एवं बाहर साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने तथा नियमित रूप से सैनिटाइजेशन का कार्य सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

मेडिकल कॉलेज में भर्ती रोगियों से प्रत्येक दिन कंट्रोल रूम से फोन पर बात की जाएगी तथा उनसे फीडबैक भी लिया जाएगा. अस्पताल में इलाज के संबंध में संबंधित विभागाध्यक्ष द्वारा लगातार समीक्षा की जाएगी तथा अद्यतन मापदंडों के आलोक भर्ती मरीजों को उपचार उपलब्ध करवाया जाए.

रात्रि पाली में डॉक्टर की उपलब्धता सुनिश्चित रहे इसके लिए अधीक्षक तथा प्राचार्य औचक निरीक्षण भी करें. इस्लामपुर नर्सिंग स्कूल की फाइनल ईयर की छात्राओं को ट्रेनिंग के लिए मेडिकल कॉलेज से जोड़ा जाएगा.

पोस्टमार्टम की सुविधा अब तक प्रारंभ नहीं होने पर प्रमंडलीय आयुक्त उसकी समीक्षा करने का निर्देश जिला पदाधिकारी को दिया तथा इसे शीघ्र प्रारंभ करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पटना चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल , नालंदा चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल तथा वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान पावापुरी के प्राचार्य ,अधीक्षक, वरीय नोडल पदाधिकारी तथा संबंधित जिला के जिला पदाधिकारी उपस्थित थे.