लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं. इसको लेकर सभी पार्टियां अभी से ही तैयारियों में जुट गई है. चुनावी माहौल भी बन गया है. वार-पलटवार का दौर भी जारी है. पोस्टर के माध्यम से जेडीयू और राजद के बीच आरोप-प्रत्यारोप भी किया जा रहा है. सीटों को लेकर दावेदारी भी शुरु हो चुकी है. हालांकि अभी चुनाव की तारीखों का एलान होने में वक़्त है.

बिहार में भले ही विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान न हुआ हो. लेकिन, दलों की ओर से सीटों को लेकर दावेदारी पेश की जाने लगी है.

महागठबंधन में शामिल आरजेडी और कांग्रेस पहले से ही अलग राह पर हैं. इस बीच हम के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री की ओर से दावा किया गया कि पार्टी 50 सीटों पर निश्चित रूप से जीत दर्ज करने की स्थिति में है.

हम प्रमुख जीतन राम मांझी भी लगातार सीटों को लेकर बयान दे रहे हैं. प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री की मानें तो हम 85 दलित बहुल सीटों पर अपने दावेदारी पेश करेगी. अगर सहमति बनी तो ठीक है क्योंकि पार्टी 50 सीटों पर जीतने की स्थिति में है.

प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री ने कहा कि आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष ने पहले ही कह दिया है कि जिसको जहां जाना है जाए. अगर सहमति नहीं बन पाई तो हम अकेले चुनाव लड़ेंगे. हालांकि, फिलहाल के हालातों में महागठबंधन के नेता तय करेंगे कि हमें कितनी सीटें मिलेंगी. लेकिन, हम ने दलित बहुल इलाकों में अच्छी पकड़ कायम कर रखी है.

पटना जलजमाव : बुडको के तत्कालीन एमडी समेत 3 अधिकारी को किया गया सस्पेंड