लाइव सिटीज, पटना : मुहर्रम से पहले पटना में तलवार की बड़ी खेप आई थी. ये बात अब पुरी तरह से पुख्ता हो गई है. लगातार छापेमारी और जांच के दौरान बड़ी संख्या में धारदार तलवारों को बरामद किया गया है. कोतवाली थाने की पुलिस टीम ने अपनी शुरूआती छापेमारी के दौरान गोरिया टोली इलाके से 129 पीस तलवार बरामद की थी. मौके से तीन लोगों को पकड़ा भी गया था. पकड़े गए उन्हीं तीनों से पूछताछ में कई क्लू हाथ लगे थे.

इनकी निशानदेही पर ही आगे की कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम ने होटल निशा के बेसमेंट में छापेमारी की. जहां तलवार के सौदागरों ने गोडाउन बना रखा था. गोडाउन के अंदर से पुलिस टीम ने 871 पीस तलवार बरामद की. जिसके बाद बरामद की गई कुल तलवारों की संख्या 1000 पीस हो गई. इस कार्रवाई को डीएसपी लॉ एंड आॅर्डर और कोतवाली थानेदार की टीम ने अंजाम दिया.

अलर्ट पटना पुलिस को मुहर्रम से पहले मिली बड़ी कामयाबी, जब्त हुई तलवार की बड़ी खेप

बड़ी बात ये है कि इस कार्रवाई को अंजाम देने के दौरान पटना पुलिस की टीम ने तलवार के सौदागर राहुल कुमार तिवारी को भी गिरफ्तार कर लिया है. राहुल भी सीवान जिले का ही रहने वाला है. पटना में ये कंकड़बाग इलाके में रह रहा था. इस मामले में ये चौथी गिरफ्तारी है. पुलिस के अनुसार बरामद तलवार की खेप को मुहर्रम और दुर्गा पूजा के दौरान जुलूस में इस्तेमाल किया जाना था. जुलूस के दौरान किसी प्रकार की अप्रिय वारदात भी हो सकती थी. जिस पर समय रहते पटना पुलिस ने लगाम लगाने की कोशिश की है.

पुलिस के अलर्ट रहने का ही नतीजा है कि शनिवार को राजधानी के अंदर से तलवार की बड़ी खेप पकड़ी गई है. एसएसपी मनु महाराज के अनुसार राहुल ही मेन सरगना है. इसके पास तलवार बेचने का कोई लाइसेंस नहीं है. इसलिए पकड़े गए लोगों के खिलाफ कोतवाली थाना में आर्म्स एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की जाएगी.

बता दें कि शाम में ही पटना पुलिस ने गोरिया टोली इलाके में छापेमारी कर आदित्या होटल के पास छापेमारी कर 129 पीस तलवार बरामद की थी. मौके पर ही सीवान के विश्राम तिवारी, रामनाथ कुमार और गोपालगंज के राकेश मिश्रा को गिरफ्तार किया गया था. फिलहाल इन सभी से पूछताछ और आगे की कार्रवाई जारी है.