लोकसभा चुनाव : दोनों फेज में अब तक कुल 15 नामांकन, बसपा से 2 ने भरा परचा

General-Elecation
प्रतीकात्मक फोटो

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 के लिए आज बुधवार 20 मार्च तक दोनों चरणों को मिलाकर कुल 15 प्रत्याशियों द्वारा नाम निर्देशन पत्र दाखिल किया गया है. राज्य के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने इसकी जानकारी दी है. मिली जानकारी के अनुसार प्रथम चरण में औरंगाबाद, गया, नवादा, जमुई संसदीय क्षेत्र शामिल हैं. इन इलाकों के लिए पांच नाम निर्देशन पत्र दाखिल हुए हैं.

इनमें औरंगाबाद से योगेंद्र राम (स्वतंत्र) और सोमप्रकाश (स्वराज पार्टी लोकतांत्रिक); गया से उमेश रजक (पीपुल्स पार्टी इंडिया,डेमोक्रेटिक); नवादा से विष्णुदेव यादव (बहुजन समाज पार्टी) और राजेश कुमार (निर्दलीय) ने नामांकन दाखिल किया है.

सिंह ने बताया कि द्वितीय चरण में किशनगंज से कोई नॉमिनेशन नहीं हुआ है. कटिहार में 2 (बासुकी नाथ साह – भारतीय बहुजन कांग्रेस, गंगा केवट – राष्ट्रीय जन संभावना पार्टी), पूर्णिया में एक (डॉ. मृत्युंजय कुमार – निर्दलीय) ने नामांकन दाखिल किया है. बांका में मो. रफीक आलम (बहुजन समाज पार्टी) ने नामांकन पत्र दाखिल किया है. इस प्रकार आज कुल 7 नये प्रत्याशियों ने नाम निर्देशन पत्र दाखिल किया है.

रिकोग्नॉइज्ड पार्टियों के कैंडिडेट्स द्वारा नामांकन दाखिल करने वालों में बांका (बसपा के रफिक आलम) और नवादा (बसपा के ही विष्णुदेव यादव) हैं. नवादा विधानसभा उपचुनाव को लेकर भी अभी तक कोई नाम निर्देशन पत्र दाखिल नहीं हुआ है.

लोकसभा चुनाव 2019 : दोनों फेज के लिए बिहार में 19 मार्च तक हुए टोटल 8 नॉमिनेशन

लोकसभा चुनाव 2019 : जानिये बिहार के करीब 7 करोड़ वोटर कब-कहां डालेंगे वोट

दैनिक समीक्षा प्रतिवेदन की जानकारी देते हुए बताया गया है कि आज आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए संपत्ति विरूपण के 11, वाहन दुरूपयोग के 2, लाउडस्पीकर ऐक्ट उल्लंघन के 5 तथा अन्य 1 मामले का प्रतिवेदन प्राप्त हुआ है. पूरे राज्य में 38,152.1 लीटर लिकर सीज किया गया है और वाहन चेकिंग अभियान स्वरूप 7,59,460 रुपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है. अवैध अस्त्र-शस्त्र मामले में 7, कारतूस 18  तथा लाईसेंसी आर्म्स के 1063 मामलों में जांच के तहत 284 जमा एवं 20 रद्द किये गये हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*