शौचालय घोटाला : SIT के सामने एक साथ बैठेंगे विनय-बिटेश्वर समेत 6 घोटालेबाज

पटना : जेल में बंद 14 करोड़ से अधिक के शौचालय घोटाला के मास्टर माइंड व पीएचईडी के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर विनय कुमार सिन्हा और कैशियर बिटेश्वर राय शुक्रवार को बाहर निकलेंगे. इनके साथ घोटाले में शामिल 4 और घोटालेबाज होंगे. जिनमें नवादा के एनजीओ आदि शक्ति सेवा संस्थान की संचालिका सुमन सिंह, बख्तियारपुर के एनजीओ मां सर्वेश्वरी सेवा संस्थान के संचालक मनोज कुमार, राजेश कुमार और तारकेश्वर प्रसाद शामिल हैं. लेकिन ये घर जाने के लिए जेल से बाहर नहीं आएंगे, ​बल्कि इन सभी को पूछताछ के लिए लाया जाएगा.

दरअसल, शौचालय घोटाले के पूरे मामले को लेकर एसआईटी इन सभी घोटालेबाजों से पूछताछ करना चाहती थी. इसलिए निगरानी कोर्ट में एसआईटी ने इन सभी को रिमांड पर लेने के लिए अपील दायर की थी. गुरुवार को एसआईटी की अपील पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने दो दिनों के रिमांड की अपनी मंजूरी प्रदान कर दी. एसआईटी में शामिल डीएसपी टाउन एसए हाशमी ने इसकी पुष्टि की है. एसआईटी के सामने घोटाले से जुड़े कई सवाल हैं.

सोर्स की मानें तो सवालों की एक लंबी लिस्ट एसआईटी ने पहले से तैयार कर रखी है. अब विनय कुमार सिन्हा और बिटेश्वर राय समेत रिमांड पर लिए गए सभी 6 घोटालेबाज एक साथ एसआईटी के सामने बैठेंगे. इन्हें एसआईटी के पूछे जाने वाले हर एक सवाल का जवाब देना होगा.

शौचालय घोटाला की पूरी कवरेज यहां पढ़ें
शौचालय घोटाला : मैं तो एक मोहरा हूं, असली खिलाड़ी तो विनय कुमार सिन्हा है
गांव की शादी में हुई मुलाकात, कर ली 14 करोड़ के शौचालय घोटाले की प्लानिंग

गौरतलब है कि घोटाला सामने आने के बाद से लेकर अब तक इस मामले में कुल 21 लोगों को एसआईटी गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. विनय कुमार सिन्हा की गिरफ्तारी से पहले कैशियर बिटेश्वर राय पकड़ा गया था. उसे दो दिन के रिमांड पर एसआईटी पहले भी ले चुकी है. जिसमें उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए थे. अब संभावना जतार्इ् जा रही है कि इन सभी से एक साथ होने वाले पूछताछ के दौरान कई नई और चौंकाने वाली बातें सामने आएंगी.