सीतामढ़ी पुलिस को बड़ी सफलता, कुख्यात राकेश यादव और सोनू रॉक यूपी से अरेस्ट

लाइव सिटीज, सीतामढ़ी से रंजीत मिश्रा : सीतामढ़ी पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है. सीतामढ़ी पुलिस ने जिले के लिए सर दर्द बने कुख्यात राकेश यादव उर्फ़ राकेश राय और सोनू रॉक उर्फ़ सोनू को अरेस्ट कर लिया है. पुलिस के अनुसार इन दोनों को उत्तर प्रदेश पुलिस के सहयोग से पकड़ा गया है. दोनों पर सीतामढ़ी के कई थानों में कुल 18 मामले दर्ज हैं. इनमें राकेश यादव पर हत्या की कोशिश, आपराधिक साजिश रचने, रंगदारी और आर्म्स एक्ट संबंधी 8 मामले सीतामढ़ी और रीगा के थानों में दर्ज हैं. वहीं सोनू रॉक पर सीतामढ़ी, सुरसंड, सोनबरसा, बथनाहा और परिहार थाने में हत्या, हत्या की कोशिश, अपराधिक साजिश रचने, रंगदारी और आर्म्स एक्ट संबंधी 10 मामले दर्ज हैं.

सीतामढ़ी के एसपी विकास बर्मन के अनुसार राकेश यादव और सोनू रॉक पर क्रमशः 50 हजार रुपए व 20 हजार रुपयों का इनाम रखा गया था. इन्हें यूपी पुलिस के सहयोग से गोरखपुर के रामगढ़ ताल के पास से अरेस्ट किया गया है. इस दौरान इनकी यूपी एसटीएफ से मुठभेड़ की बात भी कही जा रही है. गिरफ्तारी के दौरान यूपी एसटीएफ ने इनके कब्जे से एक 9mm पिस्टल, कई जिंदा कारतूस के साथ 4 मोबाइल फोन भी बरामद किया है.

राकेश यादव के खिलाफ हाल ही में सीतामढ़ी शहर में दो मेडिकल हॉल पर फायरिंग कर दहशत फैलाने का ताजा मामला भी है. वहीं बीते 25 जून को शहर के मशहूर वाटिका रेडीमेड कपड़ा दुकान पर भी फायरिंग का मामला है. इस घटना में दुकान मालिक के बेटे सौरव सुंदर पर जानलेवा हमला किया गया था. पुलिस के अनुसार इन सभी मामलों को राकेश यादव और सोनू रॉक ने साथ मिलकर अंजाम दिया था. इसके पीछे इनका मकसद रंगदारी मांगना और शहर के व्यवसायियों में दहशत फैलाना था.

सीतामढ़ी के एसपी विकास बर्मन के लिए यह बड़ी कामयाबी मानी जा रही है. मालूम हो कि बीते 28 अगस्त को सीतामढ़ी कोर्ट परिसर में बिहार के कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा की दिनदहाड़े हुई हत्या के बाद जिले की सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल उठने लगे थे. अब पिछले करीब 10 वर्षों से जिला पुलिस के लिए सरदर्द बने राकेश यादव की गिरफ्तारी से पुलिस चैन की सांस ले सकेगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*