इसोपुर हंगामा मामला : फुलवारी में अब तक 60 अरेस्ट, कुर्की जब्ती के डर से कर रहे सरेंडर

PHULWARI-FLAG-MARCH17
फुलवारी में पैदल मार्च करते विधायक के साथ पटना DM और SSP

पटना (अजीत) : राजधानी के फुलवारी शरीफ में बीते दिनों हुए हंगामा मामले में चार और आरोपियों ने सिविल कोर्ट में सरेंडर कर दिया है. ये चारों इस मामले में नामजद आरोपी हैं. इस हंगामे में फुलवारी का इसोपुर इलाका सबसे प्रभावित रहा था. इस मामले में पुलिस ने 5 प्राथमिकी दर्ज की थी और 64 लोगों को सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने के आरोप में अभियुक्त बनाया था. फरार आरोपियों के घरों की कुर्की जब्ती की जा रही थी जिसके बाद सभी ने सरेंडर करना शुरू कर दिया.

इसोपुर हंगामा मामले में शनिवार को इन चार आरोपियों के सरेंडर के बाद डीएसपी रामाकांत प्रसाद ने बताया कि नामजद अभियुक्तों में शामिल लडडन, सूरज, अशरफ और राजा ने कोर्ट में सरेंडर किया है. इस मामले में गिरफ्तारियों की संख्या अबतक 60 हो चुकी है.



फुलवारी मामले पर और पढ़ें

इससे पहले बीते सोमवार 18 दिसंबर को फरार चल रहे बारह आरोपियों ने कोर्ट में सरेंडर किया था. सरेंडर करने के बाद सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था. पुलिस ने 11 दिसंबर को ही इन मामलों में मुख्य आरोपी इसोपुर के ही रहने वाले संजीत कुमार उर्फ संजीत यादव को गिरफ्तार कर लिया था. ये खुद को फुलवारी शरीफ इलाके में बजरंग दल का हेड बताता था. पुलिस के अनुसार हिंसक वारदात की शुरूआत इसने ही की थी. पहले दिन इसने फायरिंग की थी. कई राउंड गोलियां चलाने के बाद ये मौके से फरार हो गया था. फुलवारी शरीफ थाने में इस हिंसक वारदात को लेकर जो 5 एफआईआर दर्ज किए गए थे, सभी में संजीत कुमार नामजद था.

क्या था मामला

इस माह की शुरुआत में ही 2 दिसंबर को फुलवारी शरीफ सुलग उठा था. धार्मिक जुलूस को लेकर शुरू हुए विवाद ने हिंसक रूप ले लिया था. इसके बाद इलाके में असामाजिक तत्वों द्वारा जमकर तोड़फोड़ और आगजनी की गई थी. कई दिनों तक पटना जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधि इलाके को शांत कराने में लगे रहे थे.

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम से पहले फुलवारी शरीफ में आगजनी-पथराव
फुलवारी में देर रात फिर पहुंचे DM-SSP, भारी संख्या में RAF के साथ पुलिस बल तैनात
फुलवारी में बिगड़े हालात पर पुलिस का काबू, DIG-SSP मौके पर डटे