बंगाल हिंसा मामले पर फिर बोले तेजस्वी, चुनाव आयोग को बताया भाजपा का प्रकोष्ठ

लाइव सिटीज,सेन्ट्रल डेस्क: पिछ्ले दिनों पश्चिम बंगाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुए हिंसा को लेकर देश भर में सियासत तेज हो गई है. इस घटना के बाद चुनाव आयोग ने जहां कई बदलाव कर दिया है, वहीं इसको लेकर बिहार में बयानबाजी शुरू हो गई है. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग को भाजपा का प्रकोष्ठ बता दिया है. उन्होंने कहा है कि भाजपा हार से बौखला गई है इसलिए भाजपा  प्रकोष्ठ उसके पक्ष में फैसला ले रहा है.

गुरुवार को चुनाव प्रचार में निकलने से पहले पत्रकारों से बातचीत के दौरान तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा. उन्होंने चुनाव आयोग द्वारा पश्चिम बंगाल में एक दिन पहले चुनाव प्रचार रोकने को लेकर आयोग पर पक्षपात का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग भाजपा के प्रकोष्ठ की तरह काम कर रहा है. तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि भाजपा अपनी हार को देखकर हताशा में है, ऐसे में उसका प्रकोष्ठ उसके पक्ष में फैसला ले रहा है.

इस दौरान तेजस्वी यादव ने जदयू द्वारा पश्चिम बंगाल की सरकार को बर्खास्त करने की मांग को लेकर कहा है कि बालिका गृह मामले को लेकर जब सुप्रीम कोर्ट रोज बिहार सरकार को फटकार लगा रहा है तो इन्हें बर्खास्त क्यों नही किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हमने तो भी राज्यपाल से बिहार सरकार को बर्खास्त करने की मांग भी की थी.

गौरतलब है कि में पश्चिम बंगाल में  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुए विवाद के बाद चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लेते हुए राज्य में सातवें और अंतिम चरण का चुनाव प्रचार एक दिन पहले ही समाप्त करने का फैसला लिया है. चुनाव आयोग ने कहा कि गुरुवार रात 10 बजे के बाद पश्चिम बंगाल की 9 लोकसभा सीटों पर कोई चुनाव प्रचार नहीं होगा. पहले चुनाव प्रचार शुक्रवार शाम 5 बजे खत्म होना था.चुनाव आयोग ने ईश्चरचंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.घटना पर ऐक्शन लेते हुए चुनाव आयोग ने एडीजी (सीआईडी) और राज्य के प्रधान सचिव (गृह) को भी हटा दिया है.