कुणाल को नहीं जानते हैं सुमित सिंह, बोले- बातचीत का सबूत मिला तो छोड़ दूंगा राजनीति

लाइव सिटीज, जमुई/राजेश : बिहार के मुंगेर से सांसद ललन सिंह का पीए बनकर ठगी करने वाले युवक के बयान के बाद पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह एवं और उनके बेटे पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह के खिलाफ वारंट जारी किया है. वारंट जारी होने के बाद सियासी घमासान तेज हो गया है. इस बाबत सुमित सिंह ने स्पष्ट रुप से कहा है कि वो किसी कुणाल को नहीं जानते हैं.

दरअसल पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह और उनके बेटे सुमित सिंह के खिलाफ पुलिस ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है. वारंट जारी होने के बाद दोनों की गिरफ़्तारी के लिए मुंगेर एसपी लिपि सिंह जुट गई हैं.



आरोप साबित हुआ तो छोड़ दूंगा राजनीति- सुमित

वहीं कुणाल के बारे में बोलते हुए पूर्व विधायक सुमित सिंह ने कहा है कि सीडीआर में अगर बातचीत का आरोप साबित हुआ तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि वो खुद भी पूरे मामले की जांच कर रहे हैं. बता दें कि बीते साल खुद को ललन सिंह का पीए बताने वाले एक शख्स को पुलिस ने अरेस्ट किया था. संदिग्ध कुणाल को पुलिस ने सर्किट हाउस से गिरफ्तार किया था.

पूर्व मंत्री और बेटे खिलाफ वारंट जारी

दरअसल मामला मुंगेर के कोतवाली थाना इलाके का है जहां पिछले साल अगस्त में सर्किट हाउस से अरेस्ट कुणाल ने पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह और उनके बेटे पूर्व विधायक सुमित सिंह का नाम लिया था. इसके बाद पुलिस ने दोनों के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी किया है. कुणाल खुद को ललन सिंह का पीए बताकर लोगों से ठगी करता था. जिसकी गिरफ़्तारी के बाद कोतवाली थाना में दर्ज कांड संख्या 348/19 में धारा 406,420,467,468,472,120b, 34IPC दर्ज की गई थी. बताया जा रहा है कि 5 दिन पहले पूर्व मंत्री नरेंद्र और उनके बेटे की गिरफ्तारी का आदेश मुंगेर पुलिस ने निकाला था.

ललन सिंह का पीए बनकर ठगी करता था कुणाल

कुणाल जदयू के मुंगेर से सांसद ललन सिंह का पीए बनकर लोगों से ठगी करता था. कुणाल कुमार नाम का यह शख्स मुंगेर के सर्किट हाउस के कमरा नंबर 9 में रुका था. जिसे कासिम बिहार थाना पुलिस ने अरेस्ट किया था. यह ठग खुद को सांसद ललन सिंह का पीए बताता था. ऐसा बताया जा रहा है कि यह ठग कई लोगों को चूना लगा चुका है. बताया जा रहा है कि पैरवी के नाम पर यह लोगों से पैसा ऐंठा करता था. एमएलसी संजय सिंह को इस बात की भनक लगी तो संजय सिंह ने अपने गार्ड को भेजकर सर्किट हाउस से इस ठग को पुलिस से गिरफ्तार करवाया था.

गणतंत्र दिवस पर चर्चा में हैं नीतीश की ये मंत्री, भाषण में कर दी दो बार गलतियां