कांग्रेस जिस पीएम केयर फंड पर सवाल उठाती रही, उससे बिहार को दो विशिष्ट अस्पताल मिले : सुशील मोदी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के निर्देश पर राजधानी के निकट बिहिटा में कोरोना चिकित्सा को समर्पित 500 बेड के अत्याधुनिक अस्पताल का उद्घाटन हुआ. नये अस्पताल को सेना के 115 डाक्टर सम्भालेंगे और सभी सेवाएं मुफ्त होंगी. अगले सप्ताह इसी तरह का विशिष्ट कोविड हास्पीटल मुजफ्फरपुर में प्रारम्भ होगा.


सुशील मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस जिस पीएम केयर फंड पर सवाल उठाती रही, उससे बिहार को ये दोनों विशिष्ट अस्पताल मिले. डिप्टी सीएम ने कहा कि राफेल विमान सौदे और पीएम केयर फंड, दोनों मुद्दों पर कांग्रेस को सुप्रीम कोर्ट में मुहं की खानी पड़ी. बाकी कसर जनता की अदालत पूरी करेगी.



उन्होंने कहा कि कांग्रेस और सहयोगी दलों के शासन वाले राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र जैसे राज्यों के मुकाबले बिहार कोरोना संक्रमण से निपटने में ज्यादा सफल रहा. जांच का दायरा लगातार बढाने और इलाज में तेजी लाने से संक्रमितों के ठीक होने की दर 82 फीसद हो गई, जो राष्ट्रीय औसत से 07फीसद ज्यादा है. 1 लाख से ज्यादा लोग कोरोना को हराने में सफल हुए. संक्रमण की दर घट कर मात्र 02प्रतिशत रह गई. विपक्ष को न कोरोना संक्रमण से निपटने में सरकार के प्रयास दिखते हैं, न बिजली, सड़क, महासेतु जैसे ढांचागत विकास.

वहीं, सुशील मोदी ने कहा कि पहले राहुल गांधी और प्रियंका गांधी परिवार के बाहर से कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के विचार देकर त्यागी की छवि बनाते हैं. जब उनके बयान पर भरोसा कर 23 सीनियर लोग सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखते हैं, तो उसे भाई-बहन मिलकर “विद्रोह” बता देते हैं.
देश की सबसे पुरानी पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र का यह सुनियोजित वध था, जिसे बाकायदा कार्यसमिति की बैठक में अंजाम दिया गया. कांग्रेस अपने पुनर्जीवन के अवसर स्वयं खोती है और भाजपा पर विपक्ष को समाप्त करने का अनर्गल आरोप लगाती है. बिहार में राबड़ी सरकार बचाने के लिए लालू प्रसाद से हाथ मिला कर भी कांग्रेस ने आत्मघात ही किया था.