‘अब पेंशनरों को काउंटरों पर नहीं लगनी पड़ेगी लाइन, आॅनलाइन मिल जाएंगे सर्टिफिकेट’

sushil-modi-
उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अब पेंशनरों को सरकारी काउंटरों पर लाइन लगाने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि बिहार में लगभग 4.50 लाख पेंशनर हैं. ये सब कई तरह के पेंशन से जुड़े हुए हैं. उन्होंने कहा कि वित्त विभाग के नये निर्देश के बाद अब राज्य के लाखों पेशनरों को लाभ मिलेगा.

उन्होंने कहा कि सरकारी पेंशनर व पारिवारिक पेंशन प्राप्त करनेवालों को जीवन प्रमाण पत्र देने के लिए पहले बैंक, पोस्ट ऑफिस व कोषागारों में घंटों लाइन लगा कर खड़ा रहना पड़ता था, लेकिन अब इन लोगों को इससे निजात मिलेगी. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लागू की गयी ‘ई-जीवन प्रमाण’ प्रणाली के माध्यम से अब पेंशनर व पारिवारिक पेंशन पाने वाले लोग अपना ई-जीवन प्रमाणपत्र ऑनलाइन जमा कर सकेंगे.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि अब आधार बेस्ड डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र के लिए पेंशनरों व पारिवारिक पेंशन लेनेवालों को वेबसाइट www.jeevanpramaan.gov.in के माध्यम से एक एप्लिकेशन डाउनलोड करना होगा. इस पर वे फिंगर प्रिंट/आइरिस स्केन कर आधार, बैंक खाता और मोबाइल नंबर दर्ज कर अपना जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त कर लेंगे.

उन्होंने कहा कि पेंशनर्स द्वारा जेनरेट डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र पेंशन प्रदात्ता बैंक, कोषागार या पोस्ट ऑफिस के सिस्टम में चला जायेगा. वहां से वे संबंधित पेंशनर का जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त कर उनकी पेंशन का भुगतान जारी रखेंगे.

गौरतल​ब है कि पहले जीवन प्रमाण पत्र दाखिल करने के लिए सभी पेंशनरों को प्रति वर्ष नवंबर में बैंक, कोषागार या पोस्ट ऑफिस में सदेह उपस्थित होकर यह साक्ष्य देना होता था कि वे जिंदा हैं. इसके लिए उन्हें काउंटर पर घंटों लाइन में लग कर रहना पड़ता था. चूंकि सभी पेंशन ओल्ड एज के हैं, इसलिए उन्हें काउंटरों पर लाइन लगे रहने में काफी परेशानी होती थी. लेकिन, अब नई व्यवस्था से उम्रदराज लोगों को काफी राहत मिलेगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*