छठ घाटों का सुशील मोदी और श्याम रजक ने किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिये आवश्यक निर्देश

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : दीवाली के साथ ही पटना प्रशासन छठ पूजा की तैयारी में जुट गया है. छठव्रतियों व श्रद्धालुओं को कोई भी दिक्कत नहीं हो, इसे लेकर सरकार भी एक्टिव मोड में है. पिछले सप्ताह बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पटना के विभिन्न गंगा घाटों का निरीक्षण किया. वहीं आज मंगलवार को जदयू के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक ने भी घाटों का निरीक्षण किया.

लोकआस्था के महापर्व छठ के मद्देनजर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने नासरीगंज (दीघा) से गायघाट तक स्टीमर से गंगा घाटों का निरीक्षण कर प्रशासन की तैयारियों पर संतोष व्यक्त किया और सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था का निर्देश दिया.

उपमुख्यमंत्री के साथ पथ निर्माण मंत्री नन्दकिशोर यादव, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री विनोद नारायण झा, विधायक नितिन नवीन, संजीव चैरसिया, पटना नगर निगम की मेयर सीता साहू, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद, पटना के डीएम एव नगर निगम, पटना आयुक्त सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे.

सुशील मोदी ने प्रशासन को सभी घाटों पर वाच टाॅवर, कंट्रोल रूम, चेंजिंग रूम, बैरिकेडिंग व चाली आदि की व्यवस्था करने के साथ ही पहुंच पथों की मरम्मत, बिजली, अस्थाई शौचालय व मूत्रालय, बोरिंग, चापाकल व पीवीसी टैंक लगा कर पेयजल की व्यवस्था हर हाल में 08 नवम्बर तक सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. सभी घाटों पर स्वास्थ्य शिविर लगाने, एम्बुलेंस व चिकित्सक तैनात रखने, एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की मोटरबोट द्वारा सुरक्षा व्यवस्था व गोताखोर को मुस्तैद रखने के लिए भी उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया.

उन्होंने कहा कि गंगा घाटों के अतिरिक्त शहर के सभी पार्कों व काॅलोनियों की खाली जमीन में अस्थाई तालाब का निर्माण कर उसमें पानी भरा जाय तथा इन सभी अस्थाई तालाबों में गंगा जल डालने व वहा बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. संजय गांधी जैविक उद्यान्न, बीएमपी-5 व अनिसाबाद सहित शहर के अन्य तालाबों पर भी छठ व्रतियों के लिए सभी व्यवस्थाएं की जाए. इसके साथ ही खतरनाक गंगा घाटों की सूची बार-बार प्रसारित कर वहां जाने से लोगों को रोकने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए.

उधर पटना के फुलवारीशरीफ स्थित प्रखंड कार्यालय में छठ घाट की तैयारियों को लेकर बैठक की गई. समें स्थानीय विधायक सह पूर्व मंत्री श्याम रजक उपस्थित रहे. उन्होंने अधिकारियों को छठ घाट की सफाई व लाइट आदि की हर व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए. इसके बाद उन्होंने फुलवारी ब्लॉक घाट जाकर वहां की व्यवस्थाओं व घाट की हो रही सफाई का भी जायज़ लिया. उन्होंने कहा कि लोक आस्था का महापर्व छठ पूरे बिहार का सबसे बड़ा पर्व है. व्यवस्थाओं में कोई कमी नहीं होनी चाहिए.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*