रूडी के इस्तीफे के बाद गिरिराज को लेकर बहुत बड़ा सस्पेंस

नई दिल्ली : नरेंद्र मोदी के मंत्रिपरिषद के संभावित विस्तार को लेकर मौजूदा कई मंत्रियों ने इस्तीफे दे दिए हैं. इस्तीफे देनेवाले मंत्रियों से ऐसा करने को कहा गया था. कलराज मिश्र, उमा भारती, राजीव प्रताप रूडी, संजीव बालियान समेत 6 मंत्रियों के इस्तीफे जमा हो चुके हैं. लेकिन सबसे बड़ा सस्पेंस बिहार से आनेवाले गिरिराज सिंह को लेकर पैदा हो गया है. गिरिराज केंद्रीय मंत्रिपरिषद में लघु, सूक्ष्म व मध्यम उद्योग विभाग के राज्य मंत्री हैं.

रायसीना हिल्स के सूत्र बता रहे हैं कि गिरिराज सिंह पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है. इस खतरे को लेकर ही अभी देर रात को भी बहुत बड़ा सस्पेंस बना हुआ है. दरअसल, पहले हटाये जाने वाले मंत्रियों की सूची में गिरिराज सिंह का नाम शामिल नहीं था. गिरिराज भाजपा के फायरब्रांड नेताओं की पसंद भी हैं.

लेकिन समस्या बिहार के हजार करोड़ रूपये के सृजन घोटाले को लेकर पैदा हुई है. इस घोटाले की जांच बिहार सरकार की अनुशंसा पर सीबीआई ने शुरू कर दी है. गिरिराज सिंह की परेशानी यह है कि उनकी तस्वीरें न सिर्फ सृजन घोटाले की सूत्रधार दिवंगत मनोरमा देवी के साथ वायरल हो रही है, बल्कि घोटाले का रुपया लेकर भागने वाले भाजपा के नेता विपिन शर्मा को भी तस्वीरों में आजू-बाजू देखा जा रहा है. मनोरमा देवी के निधन के बाद भी गिरिराज सिंह सृजन के लोगों से संपर्क में बताये जा रहे हैं. भाजपा के दूसरे बड़े नेता शाहनवाज हुसैन भी सृजन घोटाले के किरदारों के साथ देखे गए हैं. गिरिराज व अन्य भाजपा नेताओं की तस्वीर को लेकर बिहार में लालू प्रसाद भाजपा पर हमलावर बने हैं.

बिहार में भाजपा के नेता और डिप्टी चीफ मिनिस्टर सुशील कुमार मोदी को बार-बार सफाई देनी पड़ रही है कि कोई कितना भी बड़ा हो, बचने वाला नहीं है. बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रिपरिषद के विस्तार को लेकर पीएमओ ने जांच एजेंसियों से गिरिराज सिंह के बारे में रिपोर्ट देने को कहा था. अब यह रिपोर्ट गिरिराज सिंह का भविष्य तय करेगी. जब तक मंत्रिपरिषद का विस्तार नहीं हो जाता है, तब तक गिरिराज को लेकर सस्पेंस बना रहेगा.

यह भी पढ़ें –
सेंट्रल कैबिनेट से रूडी का इस्तीफा, कलराज मिश्र हो सकते हैं बिहार के गवर्नर
आरसीपी-भूपेन्‍द्र यादव मंत्री बन रहे हैं, राधामोहन सिंह को लेकर फिर से चर्चा है !

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

About Anjani Pandey 776 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*