स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 : झारखंड-रांची सब नंबर-1, बिहार को खोजिये इस लिस्ट में

SS-JHARKHAND

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : देश में तीसरे स्वच्छता सर्वेक्षण के नतीजे आ गए हैं. स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 के आये नतीजों में  झारखंड ने अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज कराई है. इस सर्वेक्षण में बिहार कहीं दूर-दूर तक नहीं है. झारखंड राज्य समेत कई शहर इस स्वच्छता सर्वेक्षण के विभिन्न वर्गों में अपनी उपस्थिति बनाने में कामयाब हुए हैं. केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आज बुधवार 16 मई को इस मैराथन सर्वेक्षण के नतीजे जारी किये हैं.

इन नतीजों के अनुसार झारखंड को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला राज्य चुना गया है. झारखंड के बाद महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ का स्थान है. वहीं रांची को ‘सिटीजन फीडबैक’ में देश के बेस्ट स्टेट कैपिटल का दर्जा मिला है.

झारखंड के कई शहर भी लिस्ट में

झारखंड के कई अन्य शहरों को भी इस सूची में स्थान मिला है. चाईबासा को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट में पूर्वी जोन में एक लाख की आबादी वाले शहरों में बेस्ट सिटी का अवार्ड मिला है. पाकुड़ को ईस्ट जोन में 1 लाख तक की आबादी वाले शहरों में ‘Innovation & Best Practices’ केटेगरी में सबसे साफ़ शहर का अवार्ड मिला है. बुंदु को ईस्ट जोन में 1 लाख तक की आबादी वाले शहरों में सबसे साफ़ शहर का अवार्ड मिला है. गिरिडीह को 1 से 3 लाख तक की आबादी वाले शहरों में ‘Citizens Feedback’ केटेगरी में देश के बेस्ट सिटी का अवार्ड मिला है.

SS-REPORT

इंदौर ने फिर बाजी मारी

देश स्तर की बात करें तो इंदौर ने एक बार फिर बाजी मारते हुए स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में पहला स्थान हासिल किया है. दूसरे स्थान पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल रहा है. पिछले साल की रैंकिंग में भी इन्हीं दोनों शहरों ने पहला और दूसरा स्थान हासिल किया था. इस सूची में चंडीगढ़ को तीसरा स्थान मिला है.

अब तक का सबसे बड़ा सर्वेक्षण

बता दें कि स्वच्छता सर्वेक्षण – 2018 के तहत इस साल देश के 4203 शहरों में सफाई की स्थिति का आकलन किया गया. सर्वेक्षण चार जनवरी से स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 शुरू किया गया था. पिछले वर्ष इसमें केवल 434 शहरों को शामिल किया गया था. इससे पहले साल 2016 में सिर्फ 73 शहर शामिल थे. साल 2014 से स्वच्छ भारत अभियान के तहत शुरू किया गया यह तीसरा सर्वेक्षण है. हरदीप पुरी ने कहा है कि सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले शहरों के नाम उस दिन घोषित किए जाएंगे जिस दिन पुरस्कार दिए जाएंगे.

बीते साल बिहार का बुरा रहा हाल

मालूम हो कि बीते साल जारी की गई 434 शहरों की रैंकिंग में टॉप 250 में बिहार का सिर्फ एक शहर बिहारशरीफ (रैंकिंग 147) शामिल था. जबकि राजधानी पटना 262वें पायदान पर रहा था. इस सूची में बिहार का कोई भी शहर पहले 100 में स्थान बनाने में नाकाम रहा था. 434 शहरों की रैंकिंग में बगहा का नंबर 432 और कटिहार का 430वां रहा था. इतना ही नहीं, देश के 10 सबसे गंदे शहरों में बिहार के दो शहर, बगहा तीसरे और कटिहार पांचवें स्थान पर रहा था.

VIDEO : लाइवसिटीज नहीं कह रहा, जोकीहाट के जदयू के कैंडिडेट मुर्शीद आलम खुद कह रहे हैं – हां, मैं गैंगरेप , मर्डर , फ्रॉड का आरोपी हूं, इनके साथ भाजपा भी है…

BiharBulletin में देखिए 16 मई की बिहार की टॉप-10 खबरें…

About Anjani Pandey 614 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*