तेजस्वी यादव ने जूस पिलाकर तुड़वाया वीआईपी नेताओं का अनशन, कहा- महागठबंधन मल्लाह समाज के साथ

तेजस्वी यादव ने विकासशील इंसान पार्टी के अनशनकारियों को जूस पिलाकर तुड़वाया अनशन

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में आन्ध्र प्रदेश तथा दूसरे राज्यों की मछली बिक्री बंद करने के सरकार के फैसले के खिलाफ विकासशील इंसान पार्टी के आमरण अनशन चौथे दिन शुक्रवार को कई अनशनकारियों की तबियत बिगड़ गई.  तत्पश्चात नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी प्रसाद यादव द्वारा जूस पिलाकर उनका अनशन तुड़वाया गया.  इस अवसर पर वीआईपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ मल्लाह मुकेश सहनी भी उपस्थित रहे.

ज्ञात हो कि विकासशील इंसान पार्टी द्वारा बिहार में मछली बिक्री पर प्रतिबंध के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया गया था.  वीआईपी के विरोध के कारण सरकार को झुकना पड़ा था तथा बिहार की मछलियों की बिक्री पर प्रतिबंध हटाना पड़ा.  परन्तु सन ऑफ़ मल्लाह आंध्र प्रदेश सहित अन्य राज्यों से आने वाली मछलियों पर हटाने की मांग कर रहे हैं.  इसी मांग को लेकर पार्टी के दर्जनों पदाधिकारी पिछले चार दिन से पटना के गर्दनीबाग में अनशन पर बैठे थे.

शुक्रवार को अनशन के चौथे दिन कई अनशनकारियों की तबियत गंभीर रूप से बिगड़ने लगी.  इसको ध्यान में रखते हुए नेता प्रतिपक्ष द्वारा जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया गया. इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत में पार्टी सुप्रीमो ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी ने कहा कि विकासशील इंसान पार्टी  द्वारा बिहार के विभिन्न जिलों में आयोजित किए जा रहे ‘माछ-भात’ भोज की अभूतपूर्व सफलता को देखकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुरी तरह से परेशान हैं.  इसी कारण से एक साजिश के तहत बिहार सरकार द्वारा बिहार में आन्ध्र प्रदेश तथा दूसरे राज्यों से आने वाली मछली की बिक्री पर प्रतिबन्ध लगाया गया है.  इससे लाखों मछुआरा परिवार के रोजगार तथा रोजी-रोटी पर संकट पैदा हो गया है.

सन ऑफ़ मल्लाह ने सवाल उठाया था कि अगर बिहार तथा अन्य राज्यों की मछली में फॉर्मेलिन पाया गया है तो बिहार की लोकल मछली पर से कैसे प्रतिबंध हटा लिया गया ? उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के नेताओं द्वारा मछली पर प्रतिबन्ध लगाकर आन्ध्र प्रदेश की मत्स्य कंपनियों को ब्लैकमेल कर पैसे उगाही करने की कोशिश की जा रही है.  साथ ही बिहार में दर्जनों तालाब सरकार के बड़े-बड़े नेताओं के पास है.  उनके द्वारा मछलियों को महंगे दाम पर बेचकर मोटा मुनाफा कमाने की साजिश की जा रही है.  उन्होंने कहा कि अनशनकारी साथियों की तबियत बिगड़ने के कारण तेजश्वी द्वारा अनशन तुड़वाया गया है.  मगर मल्लाह समाज की मांगें मानी जाने तथा मछली बिक्री पर प्रतिबंध हटाने तक वीआईपी का आंदोलन जारी रहेगा.

इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष तेजश्वी प्रसाद यादव ने कहा महागठबंधन बिहार के मल्लाह समाज की मांगों के साथ खड़ी है.  उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में बिहार के सभी 40 सीटों पर महागठबंधन जीत दर्ज करेगी तथा एनडीए का सूपड़ा साफ़ हो जाएगा.  उन्होंने कहा कि जल्द की महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर स्थिति स्पष्ट हो जाएगी.  महागठबंधन के सभी सहयोगी दलों के नेता मिलकर सीट बंटवारे पर फैसला करेंगे.

पार्टी की ओर से गौतम बिंद, शिव बचन प्रसाद नोनिया, विजयंता बिंद, स्वर्णलता सहनी, अजय कुमार सहनी, बैद्यनाथ सहनी, राजकुमार सहनी, बालगोविंद बिंद, भगवान चौधरी, सागर केवट, प्रद्युम्न कुमार, व्यास निषाद, राजाराम मुखिया, रविंद्र मल्लाह, संतोष नागर, मिथुन कुमार, राजकुमार निषाद, हीरालाल निषाद, राजदेव प्रसाद, भगवान चौधरी, शिवजी चौधरी, उमेश प्रसाद निषाद, सुरेश सहनी, दिनेश निषाद, उमेश सिंह निषाद, राधेकृष्ण बिंद, जवाहर चौधरी, रामचंद्र सिंह निषाद, रामनंदन प्रसाद, पारस कुमार, राजेश कुमार बिंद, सदानंद सिंह निषाद, प्रह्लाद चौहान, संजीवन बिंद, महादेव कुमार, पुणेश्वर प्रसाद, डॉ आनंदी प्रसाद, धर्मेंद्र चौहान, महादेव कुमार, संजीवन बिंद अनशन पर बैठे थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*