बिहार सरकार की शिक्षा नीति के खिलाफ शिक्षक चलाएंगे अभियान, लगाएंगे चौपाल

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: सुप्रीम कोर्ट से समान काम के बदले समान वेतन मामले में झटका मिलने के बाद बिहार प्रारंभिक- माध्यमिक शिक्षक संघ ने पटना के विश्व संवाद केंद्र में प्रेस- कांफ्रेस का आयोजन किया गया. इस दौरान शिक्षकों ने बताया कि शिक्षक अपने पोषक क्षेत्र में शिक्षक अभिभावक चौपाल लगाकर बिहार सरकार की गलत शिक्षा नीति के खिलाफ अभियान चलाएगी और बतायेगी कि गरीब, शोषित, पीड़ित के बच्चों को शिक्षा का स्तर में आ रही गिरावट से प्रभावित हो रहे हैं.

प्रेस कांफ्रेस के दौरान शिक्षक संघ ने बताया कि समान काम के बदले समान वेतन के मामले को शिक्षक जतना के अदालत में ले जाएंगे और उनके सहयोग से जन आन्दोलन का रूप देकर सरकार से लड़ने का काम करेंगे. समान काम के बदले समान वेतन को लेकर कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए इस निर्णय से नियोजित शिक्षक आहत हैं, परन्तु हार नहीं माने है. इस दौरान संघ के प्रदेश अध्यक्ष राकेश भारती ने कहा कि हमारे तरफ से क्या कमी रह गई था सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक ही तरह के केस में दो तरह के फैसला देना सोचनीय है.

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान शिक्षक संघ ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि बिहार के चार लाख नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मी का दर्जा दिया. सातवें वेतन में राज्यकर्मियों को प्रकार ग्रेड पे में बढ़ोतरी की गई उसी प्रकार हमारे ग्रेड पे में बढ़ोतरी पर सरकार विचार करें. उन्होंने कहा कि सरकार सभी तरह के नियोजन इकाई को समाप्त कर एक कैडर में लाये. प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ सभी संघ यदि एक मंच पर आकर आन्दोलन का रूप रेखा बनाते हैं तो हम भी उस आन्दोलन में शामिल होकर नियोजित शिक्षकों की लड़ाई को मिलकर लड़ेगी.

पटना के विश्व संवाद केंद्र में आयोजित प्रारंभिक – माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश अध्यक्ष राकेश भारती, प्रदेश उपाध्यक्ष रंजीत कुमार, प्रदेश मंत्री रंजन आर्य, मुंगेर विभाग प्रमुख दीपक वैश्य, कटिहार जिला अध्यक्ष प्रदीप झा, राजकिशोर पासवान और प्रदेश संगठन मंत्री पवन पावक उपस्थित थे.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*