सिपाही विद्रोह पर तेजस्वी बोले – बिहार के हालात भयावह, All is not Well

Tejashwi-yadav
Tejashwi-yadav

लाइव सिटीज.सेन्ट्रल डेस्क: बिहार में पुलिस विद्रोह को लेकर अब राजनीति भी तेज होने लगी हैं. इस पूरे मामले में एक ओर जहां बिहार सरकार और पुलिस महकमा सकते में है वहीं अब इस मामले को लेकर राजनीतिक बयानबाजी भी तेज हो चुकी है.पटना पुलिस में सिपाही विद्रोह की इस घटना को लेकर बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला किया है. तेजस्वी ने लाइव सिटीज की खबर का लिंक शेयर करते हुए लिखा है कि बिहार में हालात डरावने और भयावह है.

ऑल इज नॉट वेल

पटना में ट्रेनी महिला पुलिस सिपाही की उदयन अस्पताल डेंगू से हुई मौत के विरोध में पटना में पुलिस लाइन में हुए सिपाहियों के विरोध को लेकर तेजस्वी ने बिहार सरकार और सीएम नीतीश कुमार पर हमला किया है. तेजस्वी ने अपने ट्वीट में नीतीश कुमार को सीट शेयरिंग में लगे रहने और बिहार पर ध्यान न देने का आरोप लगाया है.तेजस्वी ने सीएम नीतीशपर हमला करते हुए बिहार के हलातो को लेकर अपने ट्वीट में लिखा कि यहां कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है.

तेजस्वी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से लाइव सिटीज की खबर को लिंक शेयर करते हुए लिखा है कि ‘हे भगवान! ये क्या हो रहा है बिहार में? बिहार के गृहमंत्री नीतीश कुमार सीट शेयरिंग में व्यस्त है। और पुलिस अब अपराधियों को पकड़ने की बजाय आपस में ही झगड़ रही है। माननीय सुप्रीम कोर्ट ने ठीक ही कहा है,” बिहार के हालात भयावह और डरवाने है”। All is not Well

आपको बता दे इससे पहले बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी नीतीश कुमार पर हमला किया था.मिश्रा ने इस बारे में बोलते हुए कहा कि इस घटना ने 1857 के सिपाही विद्रोह की याद दिला दी.

ट्रेनी महिला सिपाही की मौत के बाद मचा बवाल

बता दें कि शुक्रवार की सुबह उस समय अचानक हंगामा मच गया, जब उदयन अस्पताल में ट्रेनी महिला पुलिसकर्मी की मौत हो गयी. कहा जा रहा है कि उसे डेंगू हो गया था. उनके सहकर्मियों का आरोप है कि महिला पुलिसकर्मी अपने इलाज के लिए छुट्टी मांग रही थी. लेकिन उन्हें छुट्टी नहीं दी जा रही थी. आज उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गयी और इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी.

अपनी महिला साथी की मौत की खबर सुनकर ट्रेनी पुलिसकर्मियों का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया और वे लोग भूल गये कि उन पर सुरक्षा की बड़ी जिम्मेवारी है. इसे भूलते हुए वे अपने सीनियर अधिकारियों पर हाथ ही नहीं छोड़ा, बल्कि सरकारी संपत्तियों को भी भारी नुकसान पहुंचाया. हालात तब और बिगड़ गये, जब ट्रेनी पुलिसकर्मी पब्लिक पर भी पथराव करने लगे.

उधर डीजीपी केएस द्विवेदी ने भी इसे गंभीरता से लेते हुए हाई प्रोफाइल बैठक की. इसमें एडीजी एके सिंघल, डीआईजी राजेश कुमार, सीनियर अधिकारी आलोक राज बैठक में शामिल हुए. वहीं बताया जा रहा है कि घटना की व्यापक जांच की जा रही है. एसएसपी मनु महाराज के अनुसार स्थिति अब नियंत्रण में है. वरीय पदाधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गये हैं. अधिकारियों व जवानों से पूछताछ की जा रही है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*