तेजस्वी ने गिनाए बिहार में एक हफ़्ते की 3 ख़बरें, कहा-यहां कुत्तों, सूअरों और चूहों का राज है

Tejshwai-yadav
Tejshwai-yadav

लाइव सिटीज.सेंट्रल डेस्क: बिहार के अस्पतालो में पीछले कई दिनों से लापरवाही की खबरे आ रहीं है. पीछले हफ्ते में तीन ऐसी बड़ी लापरवाही की घटनाएं सामने आई हैं जिन्हें लेकर देशभर में बिहार का स्वास्थ्य विभााग हास्य का विषय बना हुआ है. बिहार के अस्पतालो में कही कुत्ते मरीज का पैर लेकर चले जाते हैं,तो किसी अस्पताल से सुअर मृत नवजात बच्चे की डेड बॉडी उठा ले जाता है. कल आई खबर के अनुसार चुूहे के काटने से बच्चे की मौत हो गई.अब इन्ही खबरो को लेकर बिहार के नेता प्रतिपक्ष ने बिहार सरकार पर हमला किया है. तेजस्वी ने कहा है कि बिहार में कुत्तों, सूअरों और चूहों का राज है.

तेजस्वी ने गिनाए बिहार में एक हफ़्ते की 3 ख़बरे

बिहार के नेता प्रतिपक्ष और राजद सुप्रीमो लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने पीछले 1 हफ्ते में बिहार के अलग—अलग अस्पतालों से आई तीन खबरों को लेकर पोस्ट करते हुए लिखा है कि बिहार में कुत्तों, सुअरों और चूहों का राज है। उन्होंने आगे लिखा कि ‘यह मैं नहीं बिहार के हालात कह रहे है. एक हफ़्ते की 3 ख़बर देखिए. कुत्ता ऑपरेशन थियेटर से मरीज़ का कटा हुआ पाँव लेकर भागा, अस्पताल से सूअर 2 दिन के नवजात को मुँह में लेकर भागा, चूहे ICU में नवजात की उँगलियाँ खा गए, शिशु की मौत.

 

1 हफ्ते में सामने आई अस्पतालों से लापरवाही की तीन बड़ी खबरे

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि बिहार के अस्पतालों से लापरवाही की ये घटनाएं पीछले 1 हफ्ते में सामने आईं हैं. पहली घटना बक्सर जिले से सामने आई थी जहां एक वृद्ध मरीज का पैर ट्रेन पर चढ़ते समय गिरने से टूट गया था. जिसके बाद उसे बक्सर के अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टरों ने उसके पैर को काट दिया. अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण एक अवारा कुत्ता मरीज का कटा पैर अस्पताल से लेकर भाग गया. वहीं इलाज की सुविधा नहीं होने के कारण मरीज की मौत भी हो गई थी.

दूसरी  घटना बिहार के ही सहरसा जिले से सामने आई थी जहां एक आवारा सूअर अस्पताल परिसर में घुस आया. अवारा सूअर यहां अस्पताल परिसर में पड़े लावारिस शिशु के शव को अपना निवाला बनाने लगा. जब लोगों ने हल्ला मचाया तो सूअर शिशु के शव को अपने मुंह मे दबाकर जंगल की तरफ भाग गया.

वही तीसरी घटना कल की है. मामला दरभंगा के DMCH का है. यहां के बच्चे की हालत खराब देखते हुए उसे एनआईसीयू में भर्ती किया गया जहां बीती रात चूहे ने बच्चे के हाथ और पैर की उंगली को निवाला बनाते हुए उसे खा गए और बच्चे की मौत हो गई. वहीं बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने इस बारे में एक कांफ्रेंस करके कहा कि बच्चे की मौत चूहे के काटने से नहीं हुई है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*