Big Breaking : ता​रकिशोर प्रसाद के रिलेटिव्स को टेंडर देने पर तेजस्वी ने नीतीश कुमार को बनाया निशाना, कहा- सरकार में 100% भ्रष्टाचार

लाइव सिटीज, पटना : बिहार के सियासी गलियारे में अचानक बीजेपी के कद्दावर नेता व डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद सुर्खियों में आ गए हैं. उनके रिलेटिव्स को नल-जल योजना के करोड़ों के टेंडर दिए जाने को लेकर विपक्ष हमलावर हो गया है. इसे लेकर आज गुरुवार को अभी-अभी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद समेत सीएम नीतीश कुमार को निशाने पर लिया.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि हमारे यहां जीरो टॉलरेंस पर काम होता है. लेकिन यह सब महज दिखावा है. यहां सरकार में 100 परसेंट भ्रष्टाचार है. उन्होंने नल जल योजना को नल धन योजना का नाम देते हुए कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में नीतीश कुमार का 100 परसेंट एक्सेप्टेंश है, प्रोटेक्शन है, पार्टिसिपेशन है, एसोसिएशन है और अफलिएशन है.

उन्होंने कहा कि नल योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार को सबसे पहले कटिहार के आरजेडी नेता व पूर्व मंत्री रामप्रकाश महतो ने इसे उजागर किया था. उन्होंने पिछले ही साल मुख्यमंत्री के पास इसकी लिखित शिकायत की थी, लेकिन सरकार के लेवल पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. अब तो एक अंग्रेजी अखबार ने तो पूरा खुलासा ही कर दिया है. खुलासे में बताया गया है कि डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के बहू, साले के नाम पर करोड़ों का टेंडर दिया गया. उन्होंने कहा कि ऐसी कंपनी को टेंडर दिया गया, जिसने अपनी आडिट में कहा कि उसे सरकारी काम करने का कोई अनुभव नहीं है. उन्होंने सवाल दागा कि तो फिर करोड़ों रुपये कहां जा रहे हैं?

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश सरकार में हर विभाग में भ्रष्टाचार में लिप्त हो गया. जीरो टॉलरेंस तो केवल नाम का रह गया है. नल जल योजना तो नल धन योजना बन गई है. इसके पैसे बीजेपी और जेडीयू के खाते में जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि हम तो चैलेंज करते हैं कि नीतीश कुमार 50 ऐसी पंचायतों के नाम गिनाएं, जहां ईमानदारी से काम हो रहा हो.