लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव काफी लम्बे समय से गायब चल रहे हैं, परन्तु मंगलवार को अपने ट्वीट के माध्यम से सोशल मीडिया पर प्रकट हो गए हैं. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण को लेकर दिए गए बयान के बाद तेजस्वी यादव ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा और आरएसएस पर निशाना साधा है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा
आरक्षण को लेकर RSS/BJP की मंशा ठीक नहीं है.

तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट के माध्यम से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर निशाना साधते हुए लिखा कि मोहन भागवत जी के बयान के बाद आपको यह साफ होना चाहिए कि क्यों हम आपको “संविधान बचाओ” और “बेरोज़गारी हटाओ,आरक्षण बढ़ाओ” के नारों के साथ आगाह कर रहे थे. उन्होंने आगे लिखा कि ‘सौहार्दपूर्ण माहौल’ की नौटंकी में ये आपका आरक्षण छीन लेने की योजना में काफी आगे बढ़ चुके है. जागो,जगाओ और अधिकार बचाने की मशाल जलाओ.

वहीं बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपने अगले ट्वीट में लिखा ‘आरक्षण को लेकर RSS/BJP की मंशा ठीक नहीं है.बहस इस बात पर करिए कि इतने वर्षों बाद भी केंद्रीय नौकरियों में आरक्षित वर्गों के 80% पद ख़ाली क्यों है? उनका प्रतिनिधित्व सांकेतिक भी नहीं है. केंद्र में एक भी सचिव OBC/EBC क्यों नहीं है? कोई कुलपति SC/ST/OBC क्यों नहीं है? करिए बहस??”

आपको बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा था कि जो आरक्षण के पक्ष में हैं और जो इसके खिलाफ हैं उन लोगों के बीच इस पर सद्भावनापूर्ण माहौल में बातचीत होनी चाहिए. भागवत ने कहा था कि उन्होंने पहले भी आरक्षण पर बात की थी लेकिन इससे बहुत हंगामा मचा और पूरी चर्चा वास्तविक मुद्दे से भटक गई. भागवत के बयान के बाद इसको लेकर सियासत तेज हो गई है. बिहार में विपक्षी दलों के कई नेताओं ने इसको लेकर आरएसएस प्रमुख पर निशाना साधा है.