सीबीआई के खिलाफ धरने पर ममता बनर्जी, तेजस्वी यादव सोमवार को जा सकते हैं कोलकाता

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में पुलिस और सीबीआई के बीच गहराए विवाद में बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का समर्थन किया है. उन्होंने आज रविवार की रात मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की और उन्हें राजद की ओर से पूरा समर्थन देने का भरोसा दिया. तेजस्वी यादव ने ट्विटर के माध्यम से यह जानकारी दी. साथ ही यह भी कहा है कि वे कल सोमवार को कोलकाता जा सकते हैं.

तेजस्वी यादव ने ममता बनर्जी से हुई बातचीत के बारे में ट्विटर पर लिखा है कि भाजपा न सिर्फ विपक्षी पार्टियों बल्कि भारतीय प्रशासनिक और पुलिस सेवा के अधिकारियों के खिलाफ भी अपना जहरीला और नफरत भरा रवैया अपनाए हुए है. उन्होंने इस बात की जानकारी दी है कल यानि सोमवार को कोलकाता जा सकते हैं. लाइव सिटीज को मिली जानकारी के अनुसार तेजस्वी सोमवार की सुबह ही कोलकाता जायेंगे.

तेजस्वी यादव का अटैक : CBI का किसी दिन अपने तरीके से हिसाब कर देगी आम जनता

इससे पहले पश्चिम बंगाल में सीबीआई अधिकारियों और पुलिस के बीच हुए विवाद को सुलझाने के लिए सीआरपीएफ को आगे आना पड़ा. सीआरपीएफ की एक टुकड़ी कोलकाता के सीजीओ काम्प्लेक्स स्थित सीबीआई ऑफिस पहुंची और वहां से सीबीआई अधिकारियों-कर्मियों को बाहर निकाला गया. सीआरपीएफ के आने के बाद सीजीओ काम्प्लेक्स पर मौजूद बिधाननगर पुलिस की टीम वहां से चली गई. इस बीच कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के जिन पांच अधिकारियों को हिरासत में लिया था, उन्हें भी छोड़ दिया. इन सभी को शेक्सपियर सरानी पुलिस स्टेशन में रखा गया था.

इस पूरे घटनाक्रम में महत्वपूर्ण बात यह है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस पूरे प्रकरण को लेकर मेट्रो चैनल के पास धरने पर बैठ गई हैं. उनके साथ कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार और अन्य लोग भी मौजूद हैं. ममता बनर्जी ने धरना देते हुए वहां मौजूद लोगों को संबोधित भी किया, जिसमें उन्होंने मोदी सरकार पर राज्य को अस्थिर करने का आरोप लगाया.

इधर मिल रही जानकारी के अनुसार तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने भी राज्य में जगह-जगह सीबीआई और केंद्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है. ममता बैनर्जी ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस कल सोमवार को राज्य में हर जगह रैली आयोजित करेगी. तेजस्वी यादव के साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मायावती ने भी ममता बनर्जी से बात की है.

पश्चिम बंगाल में CBI की है ‘नो इंट्री’

बता दें कि पश्चिम बंगाल ने अपने यहां किसी भी सीबीआई अधिकारी के आने पर पाबंदी लगा रखी है. पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश की सरकार ने संयुक्त रूप से बीते साल नवंबर माह में यह फैसला लिया था. फैसले के तहत सीबीआई पर अविश्वास जाहिर करते हुए दोनों राज्यों की सरकारों ने अपनी जमीन पर सीबीआई द्वारा, बिना पूर्व सूचना के किसी भी तरह की जांच करने के लिए दिए गए ‘सामान्य इजाजत’ को वापस ले लिया था. इसके बाद सीबीआई का कोई भी अधिकारी इन दोनों राज्यों में पूर्व अनुमति के बिना प्रवेश नहीं कर सकता. ऐसा करने पर राज्य की पुलिस उससे एक सामान्य नागरिक की तरह बर्ताव करेगी.

About Anjani Pandey 854 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*