तेजप्रताप के निर्दलीय चुनाव लड़ने पर तेजस्वी यादव ने कहा – घरेलू विवाद को मत देखिए

लाइव सिटीज, पटना से देवांशु प्रभात  : लालू परिवार का घरेलू विवाद खुल कर सामने आ गया है. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव बगावत पर उतर आए हैं. आज यानि सोमवार को तेजप्रताप ने राजद से अलग ‘लालू-राबड़ी मोर्चा’ बनाने के साथ-साथ सारण से निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है. जिसको लेकर उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव का बयान आया है. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि आप लोग घरेलू विवाद को मत देखिए. यह चुनाव देश और लोकतंत्र को बचाने लालू प्रसाद यादव को न्याय दिलाने के लिए चुनाव है

पटना एयरपोर्ट पर तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि सुशील मोदी एनडीए बचाकर क्यों नहीं रख पाए. सब कोई क्यों छोड़ कर चले गए NDA को. यह सृजन चोर लोग नैतिकता का पाठ ना पढ़ाए.



आज यानि सोमवार को एक निजी चैनल के साथ बातचीत में तेजप्रताप ने राजद से अलग ‘लालू-राबड़ी मोर्चा’ बनाने का एलान कर दिया है. इसके साथ ही सारण सीट को लेकर भी तेजप्रताप की नाराजगी सामने आई है. तेजप्रताप ने कहा कि सारण की सीट आरजेडी की पुश्तैनी सीट है. जहां से किसी बाहरी व्यक्ति को टिकट नहीं दिया जाना चाहिए. बता दें कि आरजेडी ने इस सीट से तेजप्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय को उम्मीदवार बनाया है. तेजप्रताप यादव ने कहा कि वे चाहते हैं कि सारण सीट से उनकी मां खुद चुनाव लड़े. इसको लेकर वे अपनी मां से कई बार विनती कर चुके हैं.

ये भी पढ़ें : RJD में बगावत के सुर तेज, तेजप्रताप और फातमी के बाद सीताराम यादव भी हुए बागी

बातचीत के दौरान तेजप्रताप यादव अपने भाई का बचाव करते भी नजर आए. उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह से अपने माता-पिता और भाई के साथ हैं. तेजप्रताप ने कहा कि लालू यादव हमारे हीरो हैं. पार्टी के लिए जो लोग मेहनत करेगा उसे आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा.

तेजप्रताप ने पांडव-कौरवों का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने तो महज दो सीटें मांगी थीं, लेकिन मुझे इसका भी कोई जवाब नहीं मिला. तेजप्रताप ने कहा कि जिन्होंने अपना पूरा जीवन पार्टी में लगा दिया, लेकिन टिकट देने की बारी आई तो बाहरी को टिकट थमा दिया.