तेजस्वी की चुटकी, बोले – पार्टी नीतीश के विरोध में लेकिन अफवाह मियां नीतीश भक्ति में लीन

tejaswi-yadav
tejaswi-yadav

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पीयू छात्रसंघ चुनावों को लेकर मामला गरमाता जा रहा है. कल पटना यूनिवर्सिटी के वीसी रास बिहारी से जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर की मुलाकात का मामला अब पूरी तरह से राजनीतिक हो चुका है. एक ओर जहां भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष नीतीन नवीन अपने नेताओं और छात्रों के साथ धरने पर बैठे है. वही नेता विपक्ष तेजस्वी यादव भी लगातार नीतीश कुमार पर हमलावर हैं. अब उन्होंने सुशील मोदी की इस मामले में चुप्पी पर उनपर तंज कसते हुए उन्हें नीतीश भक्ति में लीन नेता बताया है

तेजस्वी यादव सुशील मोदी पर साधा निशाना

नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने पीयू छात्र संघ के चुनावों में प्रशांत किशोर द्वारा हस्तक्षेप को लेकर नीतीश कुमार पर कल हमला बोला था. अब एक बार फिर से तेजस्वी यादव ने इस मामले में अब सूबे के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को भी लपेटे में लेते हुए उनपर तंज कसा है. तेजस्वी ने सुशील मोदी पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है. तेजस्वी ने तंज कसते हुए कहा है कि सुशील मोदी की साँस-साँस में नीतीश की भक्ति बसी है.

तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में सुशील मोदी पर तंज कसते हुए लिखा — साँस-साँस में नीतीश भक्ति में लीन अफ़वाह मियां सुशील मोदी की BJP के विधायक उनके आका नीतीश कुमार की घोर प्रशासनिक विफलता के विरुद्ध धरने पर बैठे है. लेकिन उपमुख्यमंत्री है कि अपने पार्टी विधायकों की बजाय नैतिक पुरुष की भक्ति को तवज्जों दे रहे है. बहुते ही बढ़िया..ख़ुलासा मास्टर जी

आपको बता दें कि कल शाम जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पीयू के वीसी रास बिहारी प्रसाद से मिलने उनके आवास पहुचे थे. यूनिवर्सिटी कैंपस में आचार संहिता के लागू होने के बावजूद उनका यहा आना कई सवाल खड़े करता है. वही छात्रो को भी उनके छात्र संघ चुनाव में हस्तक्षेप का संदेह हुआ था. जिसे लेकर छात्रों ने वीसी के आवास को घेर लिया.रात दस बजे कड़ी सुरक्षा के बीच प्रशांत किशोर वीसी आवास से बाहर निकले. इस दौरान भाजयुमो के छात्रों ने उनपर पथराव भी किया.

आज सुबह से ही भाजयुमों के नेता प्रशांत किशोर के खिलाफ धरने पर हैं. ये सभी प्रशांत किशोर पर छात्र संघ के चुनाव को प्रभावित करने का आरोप लगा रहे हैं. वहीं भाजयुमों ने प्रशांत किशोर की गिरफ्तारी की मांग की है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*