तेजस्वी के समर्थन में आए तेजप्रताप यादव, बोले: बंगला-बंगला खेलने में लगे हैं नीतीश चाचा

Nitish Kumar and Tej Pratap Yadav (File Photo)

लाइव सिटीज डेस्क : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के समर्थन में उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव आ गए हैं. हालांकि वे प्रत्यक्ष रूप से सामने नहीं आए हैं. लेकिन मीडिया से बात करने के दौरान तेजप्रताप यादव ने फोन कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा. तेजप्रताप यादव ने कहा कि अब नीतीश कुमार की पोल खुल गई है. वे बंगला-बंगला खेल रहे हैं.

तेजप्रताप यादव ने सख्त तेवर अपनाते हुए कहा कि नीतीश कुमार का ध्यान सिर्फ लालू परिवार को तंग करना है. इसी पर उनका ध्यान लगा रहता है कि किस तरह लालू फैमिली को तंग किया जाए. उन्होंने कहा कि सूबे में अपराध बढ़ गए हैं. लूट मचा हुआ है पूरे बिहार में. लेकिन हमारे चाचा हैं कि वे बंगला-बंगला खेलने में लगे हैं.

उन्होंने कहा कि तेजस्वी के बंगले का मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है. उन्होंने चेताते हुए कहा कि लालू परिवार इतना कमजोर नहीं है कि कोई दबा दे. मैं अपने कृष्‍ण के साथ हूं. यदि सरकार में हिम्मत है तो वह बंगला खाली करा कर देख ले.

BREAKING : तेजस्वी यादव के बंगला खाली कराने के विरोध में धरने पर बैठे राजद विधायक व समर्थक

BIG BREAKING : तेजस्वी यादव का बंगला खाली कराने पहुंचा पटना जिला प्रशासन, सिक्योरिटी टाइट 

तेजस्वी के बंगले पर घरवालों ने साटा पोस्टर, खाली कराने गये जिला प्रशासन के अधिकारी असमंजस में

उन्होंने इसी बहाने उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को भी निशाना बनाया. उन्होंने कहा कि बंगला में कोई हीरा-मोती जड़ा हुआ, जो सुशील मोदी को यही चाहिए. खाली करा लें ना बंगला, अधिकारी क्यों बाहर खड़े हैं? तेजस्वी जी अभी दिल्ली में हैं और ये जानते हुए भी अधिकारियों को बंगला खाली का निर्देश दिया गया है, तेजस्वी से इतना डर क्यों लग रहा है? ऐसा घिनौना काम कोई करता है क्‍या? लड़ाई करनी है तो मैदान में आइए, ऐसा घिनौना काम छोडि़ए.

बता दें कि नेता तेजस्वी यादव का बंगला खाली कराने को लेकर राजद के पदाधिकारी से लेकर कार्यकर्ता तक आक्रोश में आ गए हैं. वे सब तेजस्वी यादव के आवास पर पहुंचने लगे हैं. पूर्व मंत्री आलोक मेहता से लेकर विजय प्रकाश तक 5 देशरत्न मार्ग पर पहुंचे हुए हैं. रामचंद्र पूर्व, एज्या यादव से लेकर कई विधायक भी जा पहुंचे हैं. वे सब बंगला खाली कराने का लगातार विरोध कर रहे हैं. वे सब धरना पर बैठ गए हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*