2 करोड़ की राशि जिन माननीय सदस्य के मद से स्वास्थ्य विभाग में समायोजित की गई है, उसका खर्च भी उसी विधानसभा क्षेत्र में सुनिश्चित करें सरकार- प्रेम शंकर प्रसाद

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: विधायक प्रेम शंकर प्रसाद में कहा कि यह पहल अच्छी है लेकिन यह धरातल पर उतरेगी या फिर विभागीय भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ेगी यह बड़ा प्रश्न है। योजना एवं विकास विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2021- 2022 में मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के तहत माननीय विधायकों को मिलने वाले फंड से 2 करोड़ की राशि स्वास्थ्य विभाग अंतर्गत कोरोना उन्मूलन कोष के नाम पर समायोजित तो कर दिया,लेकिन इस कोष में न तो माननीय सदस्यगण अनुशंसा कर सकते हैं न ही अपने क्षेत्र के लिए प्रयोग कर सकते हैं। इसका प्रयोग स्वास्थ्य विभाग अपने विवेक से करेगा।

विधायक प्रेम शंकर प्रसाद में कहा कि यह मेरे ख्याल से गलत है,अगर एक विधानसभा में एक वित्तीय वर्ष में 2 करोड़ रुपए सिर्फ स्वास्थ्य पर खर्च कर दिए जाए तो पूरे क्षेत्र की सूरत ही बदल जाएगी, लेकिन सरकार ने ऐसा निर्णय लेकर क्षेत्र की जनता को छलने का कार्य किया है। सरकार यह सुनिश्चित करे कि 2 करोड़ की समायोजित की गई राशि का उसी विधानसभा क्षेत्र के स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए उपयोग हो। जिन माननीय सदस्य के मद से इस राशि का समायोजन किया गया है।अन्यथा सरकार का यह फैसला न ही तर्कसंगत है,न ही न्यायसंगत।

उन्होंने कहा कि माननीय सदस्यों से बिना राय मशविरा कर लिया गया फैसला सरकार की मंशा पर सवाल खड़ा करता हैं। साथ ही यह दर्शाता है कि समायोजित फंड भ्रष्टाचार के भेंट चढ़ने वाला है।। इसलिए मेरा सभी दलों के माननीय सदस्यगण से यह अपील है कि सरकार की मंशा समझते हुए इसके विरुद्ध आवाज उठाए और उस राशि का उपयोग अपने ही क्षेत्र के लिए सुनिश्चित करवाएं, ताकि आपके क्षेत्र की देवतुल्य जनता जनार्दन का कल्याण हो सके।