बिंदु सिंह और उसके जैसे कुख्यातों से मिलने पर लगेगी रोक, रंगदारी मामले में चल रही है छापेमारी

criminal bindu singh, extortion money, crime, patna, beur jail, contractor, बेउर जेल , रंगदारी, बिंदु सिंह, ठेकेदार, पटना पुलिस

लाइव सिटीज पटना : बेऊर जेल में बंद कुख्यात अपराधी बिंदु सिंह सहित कुल 44 बड़े अपराधियों को पटना से हटाकर दूसरे जिलों के जेल में शिफ्ट करने के लिए पटना पुलिस ने अपनी रिपोर्ट दी थी. इनमें से कई अपराधी मसौढ़ी, फुलवारी शरीफ, पटना सिटी और बाढ़ के जेलों में कैद हैं. सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार के आदेश पर इस रिपोर्ट को पटना के एएसपी आॅपरेशन अनिल कुमार सिंह ने तैयार किया था. कुख्यात अपराधियों को शिफ्ट करने को लेकर डीआईजी ने जेल आईजी से बात भी की थी.

इस पूरी प्रकिया को करीब एक महीने बीत गए. लेकिन जेल प्रशासन आज तक अपराधियों को शिफ्ट नहीं करवा पाया. अब इसका नतीजा ये है कि जेल में बंद कुख्यात बिंदु सिंह को मौका मिल गया. मिले मौके का उसने जमकर फायदा उठाया. इसने गुर्गों के जरिए पटना के दो ठेकेदारों अजीत और सत्येंद्र से रंगदारी की डिमांड कर दी. रंगदारी की रकम न देने पर ठेकेदारों को बुरे परिणाम भगुतने के लिए तैयार रहने की धमकी तक दी गई.

इस मामले में पटना के कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करायी गयी है. इस नए मामले के सामने आने पर सेंट्रल रेंज के डीआईजी ने कड़ा रूख अख्तियार किया है. जेल में बिंदु सिंह और उसके जैसे कुख्यात अपराधियों से किसी के भी मिलने पर पाबंद लगाने को सेंट्रल रेंज के डीआईजी ने कहा है. मुलाकात पर रोक तब तक रहेगी, जब तक अपराधियों की शिफ्टिंग दूसरे जिलों के जेल में न हो जाए.

इस बारे में डीआईजी ने जेल आईजी मिथिलेश मिश्र को लेटर भी लिखा है. साथ ही पटना के डीएम कुमार रवि और एसएसपी मनु महाराज को बिना किसी देरी के इस मामले में इंप्लीमेंट कराने को कहा गया है. डीआइजी के अनुसार शिफ्टिंग के बाद भी इस तरह के अपराधियों को खुले में नहीं, बल्कि जेल में बने सेल में रखना होगा. जेल प्रशासन को कुख्यात अपराधियों के ऊपर कड़ी नजर रखनी होगी. जहां तक ट्रायल की बात है तो वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भी काम हो सकता है.

चल रही है छापेमारी
जिन दो ठेकेदारों से बिंदु सिंह के गुर्गों ने रंगदारी की डिमांड की है, वो दोनों गुरुवार को पटना के एसएसपी मनु महाराज से मिले. इस केस से जुड़ी पूरी बात दोनों ठेकेदारों ने एसएसपी से बताई. फिलहाल इस मामले में पटना पुलिस तेजी से कार्रवाई कर रही है. कोतवाली थाने और स्पेशल सेल की टीम लगातार कई जगहों पर छापेमारी कर रही है. पटना पुलिस की जांच में दोनों ठेकेदारों के लगाए गए आरोप साबित होते ही जेल में बंद बिंदु सिंह को पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा. रिमांड पर लेने के बाद उससे पूछताछ की जाएगी.

About Amit Jaiswal 1004 Articles
पटना में क्राइम की हर खबरों पर होती है पैनी नजर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*