सुशांत की मौत से पूरा देश आहत, सीएम नीतीश ने परिवार और प्रशंसकों को न्याय का दिलाया भरोसा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : जेडीयू के वर्चुअल महारैली को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले का भी जिक्र किया. उन्होंने वर्चुअल मंच से उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि सुशांत जी की मृत्यु सिर्फ एक परिवार के लिए दुख की बात नहीं है. पूरा बिहार और देश के लोग इस घटना से मर्माहत है. इस घटना से बिहार समेत देश के करोड़ों लोग प्रभावित है. सच जानना चाहते हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि मामले मे जो जांच करना चाहिए था, वहां नहीं हो रहा था. बिहार में उनके पिता द्वारा मामला दर्ज कराने के बाद यहां की पुलिस जांच करने की लिए मुंबई गयी. लेकिन वहां उनको सहयोग नहीं मिला. सुशांत के पिता ने सीबीआई जांच की इच्छा जतायी हमारी सरकार ने उनकी इच्छा का सम्मान करते हुए मामले को सीबीआई को सौप दिया.



सीबीआई पूरे मामले की जांच कर रही है. बहुत जल्द सच्चाई सामने आ जाएगी. मुझे पूरा विश्वास है उनके प्रति करोड़ों लोगों की भावना जुड़ी है. जब हमको मौका मिला तो तुरंते हमने एक्शन लिया. सुप्रीम कोर्ट ने भी बिहार सरकार के एक्शन को सही ठहराया. अब मामले की सच्चाई सामने आ जाएगी. एक पीड़ित परिवार को न्याय मिलेगा.
सुशांत सिंह मौत मामले के बाद सीएम नीतीश कुमार ने भागलपुर दंगा में राज्य सरकार की कार्रवाई के बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा कि भागलपुर दंगा किससे शासनकाल में हुआ था. दंगा के पीड़ितों की हश्र क्या थी. यह बात किसी से छिपी नहीं थी.

हमारी सरकार बनी तो हमने पूरे मामले की विधिवत जांच कराने का काम किया. दंगे के शिकार लोगों को आर्थिक सहायता पहुंचायी गयी. लापता और मृत व्यक्ति के आश्रितों का सरकार ने आर्थिक सहायता देने का काम किया. लापता के आश्रितों को 1 लाख रूपया की राशि दी गयी. मृत व्यक्ति के परिजनों को दी जाने वाली पेंशन राशि 2500 से बढ़ाकर 5 हजार कर दिया गया है. हमारी सरकार ने ऐसे लोगों को दुख दर्द को बांटने का काम किया. लेकिन यह सब विपक्ष को नहीं दिखायी दे रहा है.