बिहार के इस गेंदबाज ने रणजी में मचाया कोहराम, तोड़ दिया 44 सल पुराना रिकॉर्ड

लाइव सिटीज, सेट्रल डेस्क: जब से बिहार की टीम को रणजी ट्राफी खेलने का मौका मिला है तब से ही बिहार के खिलाड़ियों ने अपने आप को प्रूव करना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में बिहार रण्जी की टीम ने एक और बड़ा कारनामा कर दिया है. बिहार रणजी टीम के खिलाड़ी आशुतोष अमन ने रण्जी ट्राफी में 44 साल पुराने रिकार्ड को तोड़ नया रिकॉर्ड अपने नाम ​कर लिया है.

आशुतोष अमन ने तोड़ा 44 सल पुराना रिकॉर्ड

आशुतोष अमन बिहार रणजी टीम के कप्तान भी हैं. इन दिनों उन्होंने अपनी लाजवाब गेंदबाजी से रणजी ट्रॉफी में मौकाल मचा रखा है. उनकी धारधर गेंदबाजी का ही कमाल है कि विरोधी टीम के बल्लेबाज उनकी गेंद खेलने में खुद को असहज महशूश करते हैं. संतोष ने अपनी इसी गेंद बाजी के बल पर बिशन सिंह बेदी का 44 साल पुराना रिकॉर्ड धवस्त कर दिया है.



बाएं हाथ के इस स्पिनर ने रणजी ट्रॉफी 2018-19 सीजन में कुल 68 विकेट लिए.उनका यह प्रदर्शन किसी भी टूर्नामेंट के इतिहास में अबतक का सबसे बेस्ट प्रदर्शन है. इससे पहले साल 1974-45 में बिशन सिंह बेदी ने 64 विकेट लिए थे और 44 सालों तक ये रिकॉर्ड कायम रहा था. 44 सालों तक कोई भी गेंदबाज इस रिकॉर्ड को तोड़ नहीं सका था.

लेकिन आशुतोष की कहर बरपाती फिरकी ने विरोधी बल्लेबाजों को पिच पर चित किया ही, साथ ही में इस गजब के रिकॉर्ड भी भी इतिहास बना कर रख दिया ओर एक नया इतिहास गढ़ दिया. बिहार रणजी टीम ने इस सीजन में 8 में से कुल 6 मैच जीते हैं, जिसमें से 5 मैचों में आशुतोष अमन मैन ऑफ द मैच रहे हैं.

मणिपुर के खिलाफ पटना में खेले गए मुकाबले में आशुतोष ने कुल 11 विकेट लिए. ये रोमांचक मैच बिहार ने 3 विकेट से जीता. गया के डेल्हा के रहने वाले आशुतोष सेना में नौकरी से पहले क्लबों के लिए क्रिकेट खेलते थे. सेना में तैनाती के दौरान हुए आशुतोष ने सर्विसेज की ओर से चार वन डे मैचों में भाग लिया और जब बिहार में 18 सालों के बाद क्रिकेट की वापसी हुई तो अपने राज्य के लिए खेलने का निर्णय लिया.