जमुई में स्कार्पियो पर बम-गोली से हमला, राजेश यादव और मनोज यादव की मौके पर ही मौत

लाइव सिटीज, जमुई(राजेश कुमार) : : जमुई के झाझा थानाक्षेत्र स्थित छापा गांव का धपड़ी मोड़ शुक्रवार की शाम बम और गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठा. झाझा की ओर से आ रही स्कार्पियो पर अज्ञात हमलावरों ने बमबारी व गोलीबारी कर उस पर सवार दो युवकों की हत्या कर दी. दोनों मृतक लक्ष्मीपुर व झाझा थानाक्षेत्र के बताए जा रहे हैं. इनकी पहचान बेलाटांड़ गांव निवासी राजेश यादव व मधी गांव के मनोज यादव के नाम से हुई है. घटना के बाद इलाके में दहशत का माहौल व्याप्त है और हत्या के संबंध में कई तरह की चर्चाएं हो रही है.

घटना के तुरंत बाद हत्या को नक्सली कारवाई से भी जोड़ कर देखा जा रहा था. मृतक के मित्र संजय यादव ने इसे आपसी रंजिश के बाद अपराधियों द्वारा की गई कारवाई बताया है. घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंच चुकी है और दोनों शव को कब्जे में लेकर जांच पड़ताल कर रही है.

पटना में मुख्य चुनाव आयुक्त की हुई बैठक, पूरे बिहार में पहली बार होगी EVM-VVPAT से वोटिंग

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि लक्ष्मीपुर थानाक्षेत्र स्थित मधी गांव का संजय यादव अपने स्कार्पियो से किसी मामले को लेकर झाझा थाना आया था. उसी वक्त संजय का बहनोई मनोज यादव एवं उसका मित्र राजेश यादव अपनी बाइक से थाना पहुंचा. थाना से निपट कर संजय यादव ने अपने स्कार्पियो पर बहनोई मनोज यादव एवं साथी राजेश यादव को बैठाकर मधी गांव भेज दिया और स्वयं बाइक से गांव के लिए चल पड़ा.

बताया जा रहा है कि स्कार्पियो के धमना-काबर मुख्य सड़क के तेलयाडीह गांव से आगे बढ़ते ही विपरीत दिशा से एक बेलेरो एवं तीन पल्सर पर सवार हथियार से लैस अपराधियों ने स्कार्पियो पर गोलीबारी आरंभ कर दी. गाड़ी के बीच सड़क पर रूकते ही अपराधियों ने स्कार्पियो पर सवार दोनो व्यक्तियों के उपर ताबड़तोड़ तीन बम फेंके और फरार हो गए. गोलीबारी और बमबारी से राजेश और मनोज की मौत मौके पर ही हो गयी जबकि स्कार्पियो का ड्राइवर अपनी जान बचाकर भागने में कामयाव रहा.

बिहार बोर्ड ने जारी किया डीएलएड के तीन सत्रों का रिजल्ट, टोटल 15,291 कैंडिडेट हुए पास

घटना की बाबत आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि अपराधियों ने मौके पर अंधाधुंध गोली चलाई जिसकी आवाज गांव तक जा रही थी. जानकारी मिल रही है कि अपराधी घटना को अंजाम देकर धमना की ओर फरार हो गये. ग्रामीणों द्वारा पुलिस को सूचना देने के बाद झाझा थानाध्यक्ष दलजीत झा दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और दोनों शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है.

इधर मधी गांव के संजय यादव ने बताया कि अपराधियों की योजना उसकी हत्या करने की थी लेकिन वो स्कार्पियो पर सवार न होकर बाइक से घर लौट रहा था. बताया जा रहा है कि संजय यादव का भी अपराधिक इतिहास रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*