भागलपुर में इलाज के दौरान दो कैदियों की मौत, मृतकों की होगी कोरोना जांच

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बड़ी खबर भागलपुर से आ रही है. जहां इलाज के दौरान दो कैदियों की मौत हो गई है. दोनों का इलाज भागलपुर के जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल में चल रहा था. मरने वाले कैदियों में खगड़िया निवासी शिव साह और मुंगेर निवासी प्रशांत कुमार सिंह शामिल हैं.

कैदी शिव साह को ज्वर और सांस में तकलीफ की शिकायत पर शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा से शनिवार की सुबह 8 बजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसे 2017 में 10 साल की सजा सुनाई गई थी. सजा के बाद से भागलपुर स्थानांतरित किया गया था. कैदी प्रशांत कुमार सिंह को विशेष केन्द्रीय कारा प्रशासन ने 31 जुलाई को ही मायागंज अस्पताल में टीवी समेत अन्य बीमारी के चलते तबीयत बिगड़ने पर भर्ती कराया था. शनिवार की देर रात उसने अस्पताल में दम तोड़ दिया.



कैदियों के मरने की सूचना जेल अधिकारियों ने उनके परिजनों को दे दी है. मृत कैदियों के कोरोना जांच की भी कवायद की जा रही है. जिससे कि यह पता लगाया जा सके कि कहीं कोरोना के संक्रमण से तो दोनों कैदियों की मौत नहीं हुई है.

कोरोना काल में जेल की नई गाइडलाइन खाकी वर्दी वालों के लिए मुसीबत बनने लगी है. पुलिस वालों को अब आरोपितों को जेल भेजने के पूर्व उनकी कोरोना जांच करानी पड़ रही है. इसके लिए उन्हें अस्पताल के जांच केंद्र पर भटकना पड़ रहा है. यानी जेल भेजने से पहले आरोपित की कोरोना जांच कराना जरूरी हो गया है. यही नहीं जेल में प्रवेश के पूर्व कोरोना जांच रिपोर्ट देखने के बाद ही आरोपित की एंट्री की जाती है. जेल में बंद कैदियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए कारा मुख्यालय ऐसी एहतियात बरत रहा है.