मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत एक दिन में 1100 लोगों को मिला रोजगार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीसी के द्वारा शनिवार को परिवहन विभाग की विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत जिलों में 1100 लोगों को रोजगार दिया गया. कई जिलों में प्रवासी श्रमिकों को भी मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना का लाभ मिला है. जिलों में इस योजना के तहत 1100 लाभुकों के बीच जिलाधिकारी द्वारा अनुदान की राशि एवं वाहन का वितरण किया गया.

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत सभी जिलों में लाभुकों को वाहन की चाभी एवं अनुदान की राषि संबंधित जिलों के जिलाधिकारी द्वारा दी गई. इन लाभुकों को लगभग 1058 लाख रुपए का अनुदान दिया गया.



मुजफ्फरपुर में सबसे अधिक 82, गया में 64, सीतामढ़ी में 57, मधुबनी में 52, औरंगाबाद में 51, पूर्णिया में 50, पटना में 45, वैशाली में 41, पूर्वी चंपारण में 40, सुपौल में 38, नालंदा, बक्सर, भागलपुर, समस्तीपुर, भोजपुर, सहरसा में 30-30, मुंगेर में 29, गोपालगंज में 28, पश्चिमी चंपारण में 26, जहानाबाद, सारण और नवादा में 25-25 लाभुकों को वाहन की चाभी तथा अनुदान की राशि दी गई.

मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत प्रवासी श्रमिकों को भी रोजगार दिया जा रहा है. शिवहर जिले में 14 लाभार्थियों में से 3 प्रवासी श्रमिक भी थे, जिन्हें मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत रोजगार मिला है. इसमें राजेश कुमार (मदन छपरा), इंद्रजीत सहनी (बखार चंडिहा) और समदोंन आलम (सुगिया) के रहने वाले हैं. इन लोगों ने बताया कि बहुत खुशी की बात है कि अपने घर में ही हमें रोजगार मिल रहा है. अब हमें रोजी-रोटी के लिए दूसरे राज्यों में जाने की आवश्यकता नहीं होगी.

परिवहन सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत वाहन की खरीद पर अब तक 26267 लाभुकों को अनुदान का भुगतान करते हुए रोजगार दिया गया है. इसमें अनुसूचित जाति के 14455, अनुसूचित जनजाति के 1247 एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग के 10565 लाभुकों को रोजगार दिया गया है.