बेमौसम बारिश ने सीमांचल इलाके के लोगों की बढ़ाई मुश्किलें. नदियों का बढ़ा जलस्तर, बाढ़ के हालात

लाइव सिटीज पटना: बिहार में पिछले कुछ दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी के बीच मौसम ने अपना मिजाज बदल दिया है. राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों में हुई बारिश ने लोगों को भीषण गर्मी से राहत पहुंचाई है लेकिन दूसरी ओर बारिश के चलते आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. इतना ही नहीं बिहार के सीमांचल इलाके में बाढ़ के हालात हो चुके चुके हैं. पिछले 3 दिनों से लगातार बारिश ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है. लगातार बारिश की वजह से कनकई, महानंदा, कोसी, बकरा नदी ऊफान पर है. इन नदियों के जलस्तर में लगातार वृद्धि जारी है. अररिया और किशनगंज के कई ब्लॉक में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं.

बता दें कि अररिया में बकरा और परमान नदी के जलस्तर में वृद्धि होने से सड़कों का कटाव तेजी से हो रहा है. जिसकी वजह से लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी हो रही है. वहीं जिले में तीन दिनों से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के कारण बकरा और परमान नदियों का जल स्तर बढ़ गया है. जिससे इस इलाके में भी बाढ़ जैसे हालात बना हुआ है.

बतातें चलें कि मूसलाधार बारिश की वजह से सुपौल जिले के निर्मली, बसन्तपुर प्रखंड में भी बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं वहीं भारी बारिश से कोसी नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हुई है. कोसी नदी का जलस्तर 2,69,150 क्युसेक बढ़ते क्रम में दर्ज किया गया है. इतना ही नहीं 42 फाटक भी खोल दिये गए हैं. बाढ़ के खतरे को देखते हुए डीएम गणपतगंज में कैंप कर रहे हैं. वहीं एनडीआरएफ की टीम भी अलर्ट मोड में है. मूसलाधार बारिश से इलाके के लोगों के लिए खतरा बना हुआ है.