लाइव सिटीज डेस्क : उपेंद्र कुशवाहा का चिंतन शिविर का गुरुवार यानी आज अंतिम दिन है. रालोसपा में जदयू के साथ ही अब भाजपा के प्रति भी तल्खी बढ़ गई है. चिंतन शिविर में रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा अब जदयू के साथ ही भाजपा पर भी बरसने लगने हैं. हालांकि जिस तरह वे डायरेक्ट नीतीश कुमार का नाम ले रहे हैं, उस ढंग से किसी बीजेपी नेता का नाम नहीं ले रहे हैं.

लेकिन इन सबके बीच राजनीतिक गलियारे से बड़ी खबर यह आ रही है कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी RLSP और शरद यादव की पार्टी LJD का एक-दूसरे में विलय हो सकता है. सूत्रों की मानें तो गुरुवार को चिंतन शिविर की समाप्ति के बाद किसी भी पल इसकी घोषणा हो सकती है. कहा तो यह भी जा रहा है कि दोनों पार्टियों के आपस में विलय का ब्लू प्रिंट भी लगभग तैयार हो गया है.

खास बात कि RLSP और LJD विलय के बाद बिहार ही नहीं, अन्य प्रांतों में स्थानीय पार्टियों से गठबंधन कर सकती है. इस पर भी रणनीति बन रही है. इसी को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने महाराष्ट्र के किसान नेता राजू शेट्टी से भी संपर्क साध रहे हैं. शेट्टी ने महाराष्ट्र मीडिया में इस बात की जानकारी भी दी है. उन्होंने मीडिया से कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा ने 2019 में होनेवाले लोकसभा चुनाव से पहले उनसे गठबंधन को लेकर संपर्क किया है.

बता दें कि राजू शेट्टी भी एनडीए का हिस्सा रहे हैं तथा वे महाराष्ट्र में स्वाभिमानी पक्ष की अगुवाई करते हैं. राजू शेट्टी ने 2017 में एनडीए से नाता तोड़ लिया था. उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार पर किसानों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया था. हालांकि शेट्टी ने यह भी कहा कि उपेंद्र कुशवाहा से पार्टी के विलय पर कोई बात नहीं हुई है.

बहरहाल वाल्मीकि नगर में रालोसपा के चिंतन शिविर के पहले दिन ही पार्टी ने उपेंद्र कुशवाहा को एनडीए में रहने या ना रहने का फैसला लेने के लिए अधिकृत कर दिया है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि गुरुवार यानी आज मोतिहारी में आयोजित कार्यक्रम के बाद वे बड़ी घोषणा कर सकते हैं. उम्मीद है कि वे नीतीश सरकार के खिलाफ बड़ा शंखनाद कर सकते हैं. वहीं उन्होंने बीजेपी को भी अपने टारगेट पर लेना शुरू कर दिया है. बुधवार को उन्होंने कहा कि भाजपा अब जदयू की बी टीम बन कर रह गई है.