पालीगंज में उपेंद्र कुशवाहा का सरकार पर हमला, ‘आप वेतन मांगेंगे सीएम डंडा मारेंगे’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी नेता खूब जान फूंक रहे हैं. नेता अपने प्रचार में लगातार एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं. ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट के नेता और रालोसपा के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पटना के पालीगंज में अपने प्रत्याशी के लिए वोट मांगा. साथ ही सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला.

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार ने आमजनों के लिए कुछ नहीं किया है. आप जब अपना वेतन मांगेंगे तो नीतीश कुमार आपके पीठ पर डंडा मारेंगे. उन्होंने कहा कि अब नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं कीजिए. जब हमलोग आएंगे तो समान काम के बदले समान वेतन देंगे. उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि युवा शिक्षा के लिए दर-दर भटक रहे हैं.



रालोसपा प्रमुख ने कहा कि बिहार की नौकरी निकलती है. आप पढ़ते हैं, और जी लगाकर मेहनत करते हैं. लेकिन मालूम चलता है कि परीक्षा को रद्द कर दिया जाता है. उन्होंने कहा कि किसी भी तरीके से अगर परीक्षा हो भी जाती है तो पेपर लीक हो जाता है. इसके बाद नतीजे आते-आते उसमें कई बार समीक्षात्मक बैठक हो जाती है. इससे आप समझ सकते हैं कि राज्य की शिक्षा व्यवस्था की क्या स्थिति है.

उन्होंने आगे कहा कि अगर किस्मत सही रही तो सेलेक्शन हो जाएगा. लेकिन ज्वाइनिंग लेटर के लिए युवीओं को तीन साल तक भटकना पड़ता है. कुशवाहा ने आगे कहा कि अगर हमारी सरकार बनती है तो जिन दिन नौकरी का विज्ञापन निकलेगा, उसके छह महीने के भीतर सारी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार बनते ही पहले हम स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था ठीक करेंगे. उन्होंने कहा कि हम तो इस विभाग में मंत्री भी रह चुके हैं. हमे तो सब पता है कि कमी कहां पर है. उन्होंने कहा कि हमने तो दिल्ली और सिक्किम के सरकारी स्कूलों को देखा है. जब इन दो छोटे शहरों में स्कूल अच्छा हो सकता है तो बिहार के स्कूल ठीक क्यों नहीं हो सकता है. गौरतलब है कि बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां प्रचार-प्रसार के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. वहीं कोरोना काल में बिहार पहला राज्य है, जहां चुनाव हो रहा है.