कैमूर पहुंचे बिहार प्रदेश कांग्रेस प्रभारी वीरेंद्र सिंह राठौर, कार्यकर्ताओं के साथ की समीक्षात्मक बैठक

लाइव सिटीज, कैमूर/भभुआ(ब्रजेश दुबे) : कैमूर जिले में रविवार को जिला कांग्रेस कार्यालय शहीद भवन भभुआ मे कांग्रेस की तरफ से कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें रोहतास एवं कैमूर जिला के तमाम पार्टी के पदाधिकारी तथा कार्यकर्ताओं ने भाग लिया. सभा की अध्यक्षता कैमूर जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार पाल ने किया. सभा में मुख्य अतिथि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव एवं बिहार प्रदेश कांग्रेस प्रभारी वीरेंद्र सिंह राठौर का सभी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया.

सबसे पहले वीरेंद्र सिंह राठौर ने रोहतास जिला के तमाम कार्यकर्ताओं से चुनावी रणनीति के विषय में विचार विमर्श किया. उसके बाद भभुआ जिला के प्रखंड स्तर से लेकर बूथ स्तर तक के उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं से चुनाव की समीक्षात्मक चर्चा किया. वीरेंद्र सिंह राठौर ने बताया कि भागलपुर, पटना, मुंगेर जिला के बाद रोहतास तथा कैमूर की समीक्षा बैठक की गयी. इसके बाद यह रिपोर्ट प्रदेश कार्यकारिणी समिति को दिया जायेगा.



उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से कहा कि कांग्रेस अपने कार्यकर्ता को विधानसभा में चुनाव लड़ने के लिए उतारेगी. बाहर से आए हुए किसी भी व्यक्ति को टिकट नहीं दिया जायेगा. हम लोगों को एक-एक बूथ पर मजबूती के साथ अपना संगठन बनाना है. गठबंधन या पार्टी के प्रत्याशी को मतदान कर विजय दिलाना है. उन्होंने यह भी कहा कि बिहार में महागठबंधन की सरकार कैसे बनेगी इस पर हम सभी दल मिल बैठकर आपस में रणनीति बना रहे हैं तथा आने वाला आगामी बिहार विधानसभा चुनाव महागठबंधन के पक्ष में होगी और हमारे मुख्यमंत्री चेहरे के रूप में तेजस्वी यादव ही हैं.

यही नहीं वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि मांझी महागठबंधन से चले गए लेकिन पुनः उन्हें वापस लाने की चर्चा हो रही है. वहीं, मीडिया के सवाल पूछे जाने पर कैमूर जिले के चारों विधानसभा सीटों पर कांग्रेस कहां-कहां लड़ेगी उन्होंने साफ तौर पर कुछ नहीं कहा लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि पार्टी से बातचीत हो रही है. हालांकि उन्होंने कहा कि जिले के दो विधानसभा सीटों पर कांग्रेस पार्टी लड़ेगी और दोनों विधानसभा सीटों पर कांग्रेस की ही जीत होगी.

इस मौके पर अशोक कुमार पांडेय, अनिल तिवारी, शंभू सिंह पटेल ,रवि रंजन पांडेय, अमित कुमार, विनोद दुबे, संजय पासी,कपिल मुनि पांडेय, मृत्युन्जय मिश्रा, रामाकांत तिवारी, गंगाधर उपाध्याय, चिनारी के पूर्व विधायक मुरारी गौतम, सुशील दुबे, विकास शुक्ला, संजय पटेल, अनिल दूबे, सुशील मिश्रा, गीता पासी, कमलेश आजाद, अरविंद पाण्डेय, सुनील कुमार सिंह, किरण सिंह, संजय चौबे, मन्नान खान, गंगाधर उपाध्याय, राजीव मिश्रा सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे.