छपरा के इस गांव में भीषण जलसंकट, पानी के लिए महिलाएं लगा रहीं स्टेशन का चक्कर

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गर्मी का मौसम शुरू होते ही बिहार में जल संकट गहराता जा रहा है. कई जिलों में हालत काफी खराब है और सूखे जैसे हालात है. सारण जिला भी भीषण जल संकट झेल रहा है. यहां के कई प्रखंडो में जलस्तर 25 फीट तक नीचे चला गया है. जिसके कारण इलाके के अधिकांश चापाकल सुख गए हैं.

जिले के मढ़ौरा में तेजपुरवा गांव के वार्ड 10 और 11 में लोगों के घरों का चापाकल बेकार हो गया है. चापाकल से पानी नहीं निकल रहा. जिसके कारण गांव के लोग पानी के लिए तेजपुरवा रेलवे हाल्ट स्टेशन पर लगे चापाकल का चक्कर लगा रहे हैं. पानी के लिये घर से दूर स्टेशन पर पहुंची महिलाएं परेशान हो रही हैं वहीं गांव वाले अब स्टेशन पर ही स्नान कर रहे हैं.

लोग पानी के लिए दर दर भटक रहे हैं. जिले के कई स्थानों पर जल संकट बढ़ते जा रहा है. पानी की समस्या से लोगों की परेशानी बढ़ गयी है. स्थिति यह है कि विभिन्न गावों व पंचायतों में चापाकल सुख जाने के कारण लोगों को पीने योग्य पानी की घोर किल्लत का समाना करना पड़ रहा है.

खासकर महिलाओ को बहुत परेशानी हो रही है, काफ़ी दूर जाकर इस गर्मी मे पानी लाना पड़ रहा है. खाना बनाने से लेकर नहाने तक के लिए पानी दूर दराज से ढोकर लाना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें : बिहार के छह जिलों में गहराया पेयजल संकट, मुख्य सचिव ने डीएम से मांगी रिपोर्ट

इसी तरह नवादा में भी जलसंकट है. इससे निजात दिलाने की मांग को लेकर अब लोग सड़क जाम पर उतर आए हैं. गुरुवार को वारसलीगंज बारबीघा पथ को सरकट्टी गांव के पास लोगों ने सड़क जाम कर जलसंकट का समधान ढूंढने की मांग की.

गौरतलब है कि बीते 15 मई को जल संकट को देखते हुए राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने सभी जिलों के डीएम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जानकारी ली थी. इस दौरान डीएम ने सभी जिलों के डीएम को जल संकट से निपटने के लिए टैंकर की संख्या बढ़ाने और अवश्यकता अनुसार चापाकल लगवाने का निर्देश दिया है.

बिहार के छह जिलों में जल संकट की समस्या गंभीर रूप ले रहा है. जिन जिलों में जल की समस्या से है उनमें वैशाली, जमुई, नवादा, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर और दरभंगा शामिल हैं.

About परमबीर सिंह 1537 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*