लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : दिल्ली चुनाव के बाद जेडीयू के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर बिहार आ गए हैं. बिहार आते ही उन्होंने सीएम नीतीश कुमार और बिहार सरकार पर हमला किया है. उन्होंने कहा है कि कब तक बिहार में 2005 की बात करके नीतीश कुमार शासन करते रहेंगे. कब तक ये बताते रहेंगे कि लालू यादव के शासन में क्या होता था. अब ये बताने का वक्त आ गया है कि बिहार दूसरे राज्यों के मुकाबले में कहां खड़ा है.

इसको लेकर तेजस्वी की भी प्रतिक्रिया आ गई है. तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि प्रशांत किशोर जो आज कह रहे हैं हम वो पहले से ही कहते आ रहे हैं.

15 साल के दौरान 55 घोटाले हुए

तेजस्वी यादव ने इस दौरान कहा कि बिहार में पिछले 15 साल के दौरान 55 घोटाले हुए हैं. भ्रष्टाचार का ग्राफ बढ़ा है. क्राइम बढ़ा है. सरकार विकास पर बात नहीं कर रही है बल्कि केवल निगेटिविटी की राजनीति कर रही है. बता दें कि आज पटना पहुंचे प्रशांत किशोर ने भी राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए यही कहा था. पीके ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि कब तक नीतीश कुमार ये बता कर राज करेंगे कि लालू के वक्त में चिकित्सा सुविधा नहीं थी, अब हो गई. कब तक वो इस बात की राजनीति करेंगे कि पहले पटना 6 बजे बंद हो जाता था लेकिन अब 10 बजे तक खुला रहता है.

पीके ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि इस बात पर चर्चा हो कि बिहार में चिकित्सा व्यवस्था होने के बाद भी कैसे बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से बच्चे मर रहे हैं. पटना 10 बजे तक खुला रहता है लेकिन कब वो वक्त आएगा जब बंबई की तरह पटना भी रात भर खुला रहेगा.

कांग्रेस ने भी दी प्रतिक्रिया

प्रशांत किशोर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने भी कहा कि जो बातें प्रशांत किशोर ने कहीं, वो बातें कांग्रेस पार्टी पिछले 15 सालों से कह रही हैं. कांग्रेस तो सालों से पूछ रही है कि बिहार में 15 वर्षों में क्या बदला? राजेश राठौड़ ने कहा कि पीके ने नीतीश सरकार की पोल खोल दी है. पार्टी से बाहर आकर प्रशांत किशोर ने जो बातें कहीं, उसमें सच्चाई है. उन्होंने प्रशांत किशोर को धन्यवाद देते हुए कहा कि कांग्रेस तो पहले ही कह रही है कि बिहार में कुछ भी नहीं बदला है. सरकार विकास का जो दावा कर रही है, वह फेल है.

हाउसिंग बोर्ड की जमीन पर जबरन कब्जा करने पहुंचा कुख्यात सत्यनारायण सिंह गिरफ्तार