उत्तर बिहार के जिलों में वर्षा की संभावना कम, कहीं-कहीं हो सकती है बूंदा-बांदी

समस्तीपुरः  जिले के पूसा स्थित डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के द्वारा आज शुक्रवार की शाम 14 सें 18 जुलाई तक  जारी किये गये मौसम पूर्वानुमान में बताया गया है कि अगले चार-पांच दिनों तक उत्तर बिहार के जिलां में मानसून के काफी कमजोर बने रहने की संभावना है. इसको लेकर कुछ जिलों में हल्की बूंदा-बांदी हो सकती है. इस अवधि में 10 से 15 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से पुरवा हवा चलने की संभावना जतायी गयी है. अधिकतम तापमान 35 से 36 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 26 से 28 डिग्री के बीच मौसम पूर्वानुमान की अवधि में रहेगी. सापेक्ष आद्रता सुबह में 85 से 90 प्रतिशत एवं दोपहर में 50 से 55 प्रतिशत के बीच रहा करेगी.

किसानो के लिये सुझाव : मौसम को देखते हुये विश्वविद्यालय के कृषि वैज्ञानिकों ने किसानो के लिये निम्नलिखित सुझाव दिये है.
  1. उचास जमीन में अरहर की बुआई करने का यह सबसे उपयुक्त समय बताया गया है. बुआई के समय प्रति हेक्टेयर 20 किलो नेत्रजन, 45 किलो स्फूर एवं 20 किलो पोटास तथा 20 किलो सल्फर का प्रयोग करें. वैज्ञानिकों ने अरहर के प्रभेदो में बहार, पूसा 9, नरेंद्र अरहर -1, मालवीय 13, राजेंद्र अरहर 01 आदि अच्छी उपज देने वाले बीज का व्यवहार करने को कहा है.
  2. केला की फसल के लिये भी इस मौसम को काफी उपयुक्त माना गया है. उत्तर बिहार में लम्बी किस्मों के लिये अलपान, चम्पा, कंथाली, मालभोग, चिनियां, शक्कर चिनिया, फिआ 23 तथा बौनी एवं खाने वाली किस्मों के लिये ग्रेडनेन, रोबस्टा, बसराई अनुशंसित है.
    #नरेंद्रमोदी और #अमितशाह से खुली बगावत कर रखे #शत्रुघ्नसिन्हा पर #राजनाथसिंह की बड़ी कृपा बसी है, #बिहारकीबात में #भाजपा के अंदरखाने चल रहे घमासान को वीडियो में समझिए #अभिषेकचन्द्रा से…

    अमित शाह तो चले गए, लेकिन बड़ा सवाल छोड़ गए- क्या सीट शेयरिंग को लेकर बिहार में बन गई बात ?

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*