लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : मैडम… मेरा सिपाही पति अक्सर शराब पीता है. शराब के नशे में वो मेरे साथ मारपीट करता है. नशे में धुत होने के बाद वो कभी अपने सिपाही दोस्तों को कमरे में भेज देता है तो कभी भैंसुर को. जबरन उनसे रिलेशन बनाने को कहता है. ये गंभीर आरोप एक महिला ने अपने सिपाही पति के ऊपर लगाया है.

सिपाही पति की हरकतों से परेशान महिला ने इंसाफ के लिए बिहार राज्य महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया है. बुधवार को पीड़िता महिला आयोग के ऑफिस पहुंची थी. जिस सिपाही पर ये गंभीर आरोप लगा है, उसका नाम पितलेश कुमार है. वर्तमान में इसकी पोस्टिंग समस्तीपुर जिले में है.

2010 में हुई थी शादी

पीड़ित महिला का मायका पटना के ही राजवंशी नगर में है. इनकी शादी साल 2010 में औरंगाबाद जिले के करहरा गांव के रहने वाले रामचंद्र सिंह के बेटे पितलेश कुमार के साथ हुई थी. शादी के बाद महिला को गांव वाले घर में रखा गया. 8 साल और 6 साल की दो बेटियां हैं. महिला का आरोप है कि उसका सिपाही पति हमेशा शराब पीता है. शराब पीने के बाद उसके साथ मारपीट करता है. नशे की हालत में उसने भैंसुर को मेरे कमरे में भेज दिया. हरकतों से परेशान होकर ही उसने ससुराल में रहना छोड़ दिया.

ससुर ने दी धमकी

आरोप है कि पति के गंदे कारनामों में ससुर रामचंद्र सिंह, भैंसुर मिथिलेश सिंह और देवर रंजीत सिंह साथ देते हैं. कई बार ससुर ने भी पिटाई के लिए हाथ उठाया. ससुर ने बच्चों सहित उसे जान से मरवा देने की धमकी दी. जिसके बाद से वो और डर गई. साथ ही ससुर ने पितलेश की दूसरी शादी करवाने की बात कही. महिला का आरोप है कि उसके पति का अपनी ही विधवा भाभी के साथ नाजायज संबंध है.

जांच में जुटा आयोग

जिस वक्त पीड़िता अपने सिपाही पति के उपर गंभीर आरोप लगा रही थी, उस दौरान पति पितलेश वहां सामने में मौजूद था. हालांकि उसने अपने उपर लगे आरोपों से साफ इनकार किया है. लेकिन बिहार राज्य महिला आयोग ने इस केस को गंभीरता से लिया है आयोग की सदस्य नीलम सहनी इस केस की जांच कर रही हैं. फिलहाल उनके कहने पर पितलेश अपनी पत्नी और बच्चों को पटना में रखने के लिए तैयार हुआ है.