International Women’s Day : पटना एयरपोर्ट के एटीसी और सीएनएस की महिलायें संभालेंगी कमान, पटना जू में मिलेगी फ्री एंट्री, ट्रेन चलाने की भी मिली जिम्मेदारी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है. इस अवसर पर पटना एयरपोर्ट के एटीसी (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) और सीएनएस (कम्यूनिकेशन, नेवीगेशन व सर्विलांस) सिस्टम की कमान महिलाएं संभालेंगी. हालांकि, महिला अफसरों व कर्मियों की संख्या सीमित होने के कारण इस साल तीनों शिफ्टों की बजाय दोपहर 1:30 बजे से शाम 7:30 बजे तक के शिफ्ट में ही उन्हें यह कमान दी जायेगी. इस दौरान एटीसी टावर में तीन और सीएनएस में तीन महिला अधिकारी रहेंगी. उनके हाथ में लैंड व उड़ने वाले विमानों का नियंत्रण होगा. यहां एटीसी में 35 अधिकारी और कर्मी तैनात हैं, जिनमें 7 महिलाएं हैं. सीएनएस में 37 अधिकारी व कर्मी हैं, जिनमें तीन महिलाएं हैं. पूरी तरह महिला क्रू द्वारा विमान उड़ाने की भी योजना है.

सोमवार को बंद रहता है जू, पर आज खुला रहेगा

साथ ही सोमवार को छुट्टी के दिन भी संजय गांधी जैविक उद्यान सामान्य दिनों की तरह खुला रहेगा. इस खास अवसर पर जू में प्रवेश करने वाली सभी महिलाओं को नि:शुल्क एंट्री मिलेगी. यह जानकारी पटना जू के अधिकारियों ने दी. उन्होंने बताया कि वन एवं पर्यावरण मंत्री के आदेश के तहत यह काम किया जा रहा है. सोमवार को पटना जू बंद रहता है, लेकिन इस बार 8 मार्च को महिला दिवस के अवसर पर इसे खुला रखने का आदेश दिया गया है. वहीं, पटना जंक्शन से महिला लोको पायलट रिचा कुमारी व गार्ड नेहा कुमारी मेमू ट्रेन लेकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन (डीडीयू) जायेंगी. वहां से ट्रेन को फिर वापस लेकर भी आयेंगी. इसके अलावा पटना जंक्शन व गुलजारबाग स्टेशन की कमान महिलाओं के हाथ में होगी.

गुलजारबाग स्टेशन भी पूरी तरह महिला रेलकर्मियों द्वारा संचालित होगा

पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म पर टीएक्सआर, टिकट चेकिंग स्टाफ, आरपीएफ व प्लेटफार्म संख्या 10 पर आरआरआई का काम महिला रेलकर्मी करेंगी. गुलजारबाग स्टेशन भी पूरी तरह महिला रेलकर्मियों द्वारा संचालित किया जायेगा. हाजीपुर में कई कार्यक्रमों होंगे. पूमरे जीएम ललित चंद्र त्रिवेदी, पूर्व मध्य रेल महिला कल्याण संगठन की अध्यक्ष कौमूदी त्रिवेदी सहित सभी उच्चाधिकारीगण व रेलकर्मी उपस्थित रहेंगे. सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि रेलकर्मियों के 34 मेधावी बच्चियों को शैक्षणिक सहायता के रूप में नकद राशि दी जायेगी. कोरोना के दौरान बेहतर काम करनेवाली 10 महिला रेलकर्मियों को सम्मानित किया जायेगा.