चैत्र नवरात्रि 2021 : आज से शुरू हो गयी है मां की आराधना, यदि आप व्रत करते हैं तो आपके लिए यह जरूरी खबर

लाइव सिटीज, पटना : चैत्र मास में वासंतिक नवरात्र हिंदुओं का एक प्रमुख त्योहार है. आज मंगलवार से यह पर्व शुरू हो गया है. भक्तों व श्रद्धालुओं ने आज मां दुर्गा के प्रथम रूप शैलपुत्री की पूजा की. कोरोना गाइडलाइन की वजह से मंदिरों के पट बंद हैं. ऐसे में लोगों को अपने घरों में पूजा करनी पड़ रही है. नवरात्रि में जितना तप का महत्त्व है, उतना ही उपवास का भी.

यदि आप व्रत कर रहे हैं तो उपवास के दौरान आपको डाइट का विशेष ख्याल रखना होगा. नवरात्र के पावन पर्व पर उपवास करने वाले व्रतियों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, यह जानना भी आपके लिए जरूरी है. उपवास के दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, इसकी जानकारी हम यहां दे रहे हैं.

व्रत में क्या खाएं

  • नवरात्रि के दौरान आप कुट्टू, सिंघाड़े, राजगिरा, साबुदाना इत्यादि भोजन में ले सकते हैं. साबुदाना का पापड़, खीर, खिचड़ी और बड़ा भी बनाकर डाइट में ले सकते हैं.
  • खाने में मसाले के तौर पर जीरा और जीरे का पाउडर, काली मिर्च या काली मिर्च का पाउडर, हरी इलायची, लौंग, दालचीनी, अजवायन, सूखे अनार के बीज, इमली और जायफल का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • व्रत में प्रयोग हो रही सब्जियों में आप शकरकंद, आलू, अरबी, कचालू, पालक, तोरी यानी भिंडी, घिया, खीरा, गाजर की सब्जी खा सकते हैं. फलों में आप पपीता, सेब, नाशपाती और अनार जैसे फलों का सेवन आपको जरूर करना चाहिए.

व्रत में क्या न खाएं

  • तामसी भोजन के बारे में सोचना भी गुनाह है. प्याज और लहसुन का प्रयोग बिल्कुल नहीं करें.
  • हल्दी, हींग, सरसों का तेल, मेथी दाना, गर्म मसाला और धनिया पाउडर का इस्तेमाल नहीं करें. नमक में केवल सेंधा नमक लें. रिफाइंड तेल या सोयाबीन ऑयल में खाना न पकाएं.
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, फली, दाल, चावल, आटा, कॉर्नफ्लोर, होल व्हीट, रवा और मैदे का इस्तेमाल करने से बचें.

इन्हें भी जानें

  • व्रत के दौरान कोशिश करें कि आप खूब पानी पीएं. आप चाहें तो नारियल पानी, दूध और ताजे फलों के रस जैसे तरल पदार्थों को शामिल करने के बारे में भी सोच सकते हैं. ये चीजें आपको तरोताजा बनाए रखेंगी.
  • उपवास के दौरान कुछ चीज़ों से आपको बचना होगा, खासकर मिठाई से. व्रत के दौरान बाहरी मीठा खाने से बचें. कोशिश करें कि आप घर पर ही मिठाई बनाएं और उसका सेवन करें.
  • बाजार में व्रत के अनुकूल नमकीन, चिप्स और भोजन मिल जाते हैं। लेकिन ये पैकेट नौ पवित्र दिनों में उपवास के उद्देश्य को खत्म कर देते हैं और इसका सीधा असर आपके स्वास्थ्य पर भी पड़ता हैं.
  • उपवास के दौरान आप हर दिन 7-8 घंटे सोएं. आराम करने की कोशिश करें और अपने शरीर को पूरी तरह से डिटॉक्सीफाई करने के लिए ध्यान या अभ्यास का सहारा लें.